एचसीएल कंपनी ने 27 बच्चों का किया चयन, मंत्री सुमित सिंह बोले-संस्थान स्तर पर ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल को सशक्त और क्रियाशील बनाया जा रहा

लब्ध प्रतिष्ठित बहुराष्ट्रीय कंपनियों के द्वारा अभियंत्रण महाविद्यालय के शैक्षणिक सत्र 2021-22 तृतीय वर्ष के छात्रों के लिए पुल कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव माह अगस्त 2021 से आरंभ कर दिया गया है। इस प्रथम अभियान में एचसीएल कंपनी द्वारा पूल कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव के माध्यम से दिनांक 28.8.2021 को 27 बच्चों का इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन तथा कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग विषय के छात्रों का टेक्निकल एनालिस्ट के पद के लिए चयन किया गया है। विज्ञान एवं प्रावैधिक विभाग के माननीय मंत्री सुमित कुमार सिंह के द्वारा उन छात्रों संबंधित विभागीय पदाधिकारियों, अभियंत्रण महाविद्यालय के प्राचार्य और उनके ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट ऑफिसर को बधाई दी है। सभी 27 चयनित छात्रों की सूची इस प्रकार है:

बख्तियारपुर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग बख्तियारपुर (5) भागलपुर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग भागलपुर (4), गवर्मेंट इंजीनियरिंग कॉलेज बैशाली(3) मुज़्ज़फरपुर इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मुजफ्फरपुर (3) कटिहार इंजीनियरिंग कॉलेज(2) एल एन जे पी आई टी छपरा (2) गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज बांका(2), एम ए सी ई टी पटना(2), गया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग गया( 1)दरभंगा कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग दरभंगा(1), शेरशाह कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग सासाराम(1), नालन्दा कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग चंडी (1)। यह अभियान मई 2022 तक चलेगा, जिसमें अन्य शाखाओं के छात्रों का चयन विभिन्न कंपनियों के द्वारा किया जाएगा और इस प्रकार यह संख्या काफी बढ़ने की संभावना है। उदाहरण के रूप में टीसीएस, आईबीएम, विप्रो, एचसीएल अदि बहुराष्ट्रीय कंपनियों में पिछले शैक्षणिक सत्र 2019-20 में कुल 400 छात्रों का कैंपस सेलेक्सन हुआ और 450 छात्रों का 2020-21 में अब तक हो चुका है। सत्र 2020-21 के लिए यह अभियान सितंबर तक चलेगा, जिसके फलस्वरुप नंबर में और वृद्धि होगी। इन ऑकड़ों से परिलक्षित होता है कि सत्र 1921-22 कैंपस सेलेक्सन की संख्या में अत्यधिक वृद्धि होगी।

विभागीय मंत्री के द्वारा यह बताया गया कि विभाग तथा संस्थान स्तर पर ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल को सशक्त तथा क्रियाशील बनाया जा रहा है, ताकि इंजीनियरिंग कॉलेज पॉलिटेक्निक के छात्रों के नियोजन के प्रतिशत में अधिक से अधिक वृद्धि हो सके। इसके लिए छात्रों को बहुत सारे प्रशिक्षण कार्यक्रम आईआईटी सिस्को आदि के सहयोग से चलाए जा रहे हैं, ताकि छात्र उद्योग की मांग के अनुरूप तैयार हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *