इंडिगो मैनेजर की हत्या पर बोले विपक्ष नेता , नीतीश से नहीं संभल रहा सरकार …

पटना में कल रात जो घटना हुई उसको लेकर पटनावासी डरे हुए है सहमे से है बता दे की पटना में हुई इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन हेड रूपेश सिंह की हत्या के मामले से बिहार की सियासत गरमा गई है। मंगलवार की शाम हुई इस हत्याकांड ने बिहार के लॉ एंड ऑर्डर पर बड़ा प्रश्नचिह्न खड़ा कर दिया है। राजनेता चाहे वो सत्ता पक्ष के हों या फिर विपक्ष के, दोनों तरप से नीतीश सरकार को घेरने में लगे हैं। प्रदेश के राजनेता बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पुलिस को खुली छूट देने की मांग कर रहे हैं। बता दें कि इस घटना के बाद कई ऐसे सवाल हैं जो पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठते हैं। आखिर सीएम की मीटिंग में होता क्या है जो अपराधियों पर लगाम लगाने में पुलिस विभाग फेल साबित हो रहा है।

जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पटना में हुए हत्याकांड पर नीतीश कुमार की सरकार को घेरते हुए कहा कि सीएम नीतीश कुमार अब किस बात की समीक्षा कर रहे हैं। पप्पू यादव ने कहा कि बिहार पुलिस को अब फ्री हैंड देने का समय आ गया है और बिहार में अपराधियों का एनकाउंटर करने की जरूरत है। पप्पू यादव ने कहा कि रूपेश सिंह की हत्या के तार एयरपोर्ट से लेकर छपरा तक जुड़े हुए हैं। इसमें किसी की राजनीतिक साजिश की संलिप्तता भी हो सकती है, ऐसे में पूरे मामले की जांच बिहार की सरकार सीबीआई को दे। पप्पू यादव ने कहा कि पटना में एक किलोमीटर के दायरे में पूरा मंत्रालय है लेकिन बावजूद इसके शहर के पॉश इलाके में दिनदहाड़े हत्या की घटना हो रही है।

राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि जिस तहर से सरकार के नाक के नीचे पटना में हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है, वो सवाल खड़े करता है। अपराधियों का सुनामी आ गया है। ये सरकार अपराधियों के सामने नतमस्तक है। सरकार बताए कि आखिर कब तक जनता अपराध से कड़ाहती रहेगी।

इंडिगो के स्टेशन मैनेजर की हत्या पर विपक्ष ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि अपराधियों के बढ़ते मनोबल को दिखाता है। मुख्यमंत्री की लगातार पुलिस के साथ बैठकों का कोई असर नहीं पड़ा है। राज्य में कानून व्यवस्था के सुधार की जरूरत है। कल की घटना राज्य सरकार के लिए तमाचा है।

इधर, बीजेपी के राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर ने कहा कि राजधानी पटना समेत पिछले कुछ दिनो में राज्य के अलग-अलग जिलों में घटी घटना चिंता का विषय है। सरकार को इस मामले में चिंता करने की ज़रूरत है। पुलिस सिस्टम और पटना पुलिस पर विवेक ठाकुर ने सवाल उठाते हुए कहा कि शहर में ऐसी घटना होती हैं, लेकिन कोई सीसीटीवी फ़ुटेज नहीं आ रहा है, ऐसा क्यों?
अगर समय पर तीन से पांच दिन में नहीं निकला निष्कर्ष तो सीबीआई को जांच सौंपनी चाहिए

वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार सरकार के मंत्री अमरेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर किसी भी सरकार की प्राथमिकता होती है। हमारी सरकार की प्राथमिकताओं में भी है। लॉ एंड ऑर्डर अपराध की घटनाओं को रोकने के लिए नीतीश सरकार पूरी तरह से तत्पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *