24 जुलाई से पटना में भी चलेंगी 50 CNG बसें, दानापुर, बिहटा और पटना सिटी के लोगों को मिलेगी सुविधा

मार्च में राजधानी पटना को 12 इलेक्ट्रिक बसों की सौगात देने के बाद अब परिवहन विभाग सीएनजी बसों की सौगात देने जा रहा है। 24 जुलाई से दानापुर, बिहटा और पटना सिटी रूट पर सीएनजी बस चलाने की तैयारी की जा रही है। परिवहन विभाग इसकी तैयारियों में जुटा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन बसों को हरी झंडी दिखाएंगे। अलग-अलग रूटों पर चलनेवाली सीएनजी बसों का किराया दूरी के हिसाब से तय होगा। परिवहन विभाग के अनुसार, इन बसों का न्यूनतम किराया 5 रुपए होगा और अधिकतम किराया 45 रुपए होगा। जिन रूटों पर बसों का संचालन होगा, उसमें बांकीपुर बस डिपो से दानापुर रूट, बिहटा- आईआईटी-पटना रूट और बिहटा- दानापुर रूट शामिल हैं।

बस डिपो से दानापुर रूट पर 20 बसें, बिहटा-आईआईटी-पटना रूट पर 20 बसें और बिहटा- दानापुर रूट पर 10 बसें चलेंगी। बसें सीसीटीवी, स्पीड गवर्नर, जीपीएस डिवाईस, वाटर कूलर और फायर सेफ्टी तकनीक से लैश होंगी। परिवहन विभाग की तैयारियों के मुताबिक, पटना की सभी डीजल बसों को 2022 तक सीएनजी बसों में बदल दिया जाएगा। परिवहन सचिव संजय अग्रवाल ने बताया कि पटना में जल्द 4 और सीएनजी फिलिंग स्टेशन बनेंगे। फिलहाल यहां 8 फिलिंग स्टेशन रुकनपुरा, ट्रांसपोर्ट नगर, बहादुरपुर, गोला रोड, दीदारगंज, सगुना मोड़, नौबतपुर और बाईपास रोड पर है। नया स्टेशन बिहटा, मसौढ़ी, फुलवारीशरीफ और दानापुर में बनाने की तैयारी चल रही है। पटना में सीएनजी की कीमत 61.9 रुपये प्रति लीटर है।

डीजल बसों से पहले सरकार ऑटो को लेकर निर्देश जारी कर चुकी है। परिवहन विभाग ने 12 जनवरी 2021 को एक आदेश जारी कर 1 अक्टूबर 2021 से पटना में डीजल ऑटो चलाने पर रोक लगा दी है। 31 जनवरी से ही यह रोक लगनी थी, लेकिन कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन के कारण इसकी अवधि बढ़ा दी गई। जनवरी में आए आदेश के मुताबिक, पटना जिले के पटना नगर निगम, दानापुर, खगौल और फुलवारीशरीफ नगर परिषद क्षेत्र में 30 सितंबर 2021 तक ही डीजल ऑटो का परिचालन हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *