नेपाल में आफत की बारिश से बिहार में बाढ़, बागमती और गंडक खतरे के निशान पर पहुंची, अलर्ट मोड में अधिकारी

नेपाल के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश का असर गुरुवार से जिले में दिखने लगा है। बागमती व गंडक के साथ-साथ बूढ़ी गंडक भी तेजी से लाल निशान की ओर बढ़ने लगी है। बागमती के जलस्तर में 54 सेमी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। बढ़ते जलस्तर को देखते हुए लोगों में दहशत है। वहीं गंडक के जलस्तर में भी 21 सेमी का उछाल दर्ज किया गया है। इसके कारण साहेबगंज व पारू में पानी चढ़ा है। हालांकि दोनों जगहों पर नदी अपने बांध के बीच में ही बह रही है। बूढ़ी गंडक के जलस्तर में बुधवार के सापेक्ष तीन सेमी वृद्धि दर्ज की गई है।

दो दिन पूर्व नेपाल व उत्तर बिहार के कुछ जिलों में हुई भारी बारिश के कारण बागमती कटौझा में खतरे के निशान से करीब एक मीटर ही नीचे रह गई है। बागमती में पानी बढ़ने से औराई, कटरा व गायघाट के लोगों की चिंता बढ़ गई है। वहीं दूसरी ओर गंडक नदी के जलस्तर में भी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। इधर, शहर से होकर गुजरने वाली बूढ़ी गंडक गुरुवार को खतरे के निशान से एक मीटर नीचे रही। एक तरफ दोनों नदियों के जलस्तर में गुरुवार को बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है, दूसरी ओर मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों तक नेपाल व उत्तर बिहार के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश की संभावना जतायी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *