EXCLUSIVE : UPSC टॉपर शुभम का बना फर्जी ट्वीटर अकाउंट, सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही नफरत

इस समय एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बिहार के लाल शुभम कुमार ने यूपीएससी रिजल्ट में पूरे देश में टॉपर बनकर अपने जिले कटिहार का नाम रोशन किया। रिजल्ट जारी होने के साथ शुभम का नाम पूरे देश में गूंजता रहा। सोशल मीडिया से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत तमाम नेताओं की ओर से उनकी सफलता पर बधाइयों का तांता लग गया। इधर, UPSC  टॉपर शुभम कुमार का फर्जी ट्वीटर अकाउंट बना लिया गया है। खबर है कि ट्वीटर अकाउंट किसी दूसरे के नाम पर था, जो अब नाम बदल कर नफरत फैलाई जा रही है। इसमें मोदी सरकार के फैसलों पर उंगली उठाई जा रही है। वहीं IIT मद्रास में बीजेपी-आएसएस द्वारा छात्रों पर हमले के खिलाफ प्रोटेस्ट को सपोर्ट किया जा रहा है। इस पूरे प्रकरण की जानकारी HEADLINES BIHAR ने टॉपर शुभम कुमार को दी।

बता दें कि संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने शुक्रवार को सिविल सेवा परीक्षा-2020 का परिणाम घोषित किया था, यूपीएससी परीक्षा में 761 अभ्यर्थी सफल हुए। बिहार के कटिहार निवासी शुभम कुमार (Roll No. 1519294) ने देशभर में टॉप किया। इसके बाद शुभम ने अपने घर फोन किया और कहा कि “हेलो पापा मैं टॉप कर गया।” यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा-2020 के टॉपर शुभम के पिता को अपने कानों पर ही विश्वास नहीं हुआ, लेकिन, जब बेटे ने दोबारा टॉप करने की बात कही तो उनकी आंखें छलक उठीं। पिता-पुत्र दोनों एक साथ फोन पर ही रोने लगे थे। यूपीएससी टॉपर शुभम की उपलब्धि पर उनके परिवार के लोग मीडिया से अपने बातें साझा करते हुए रो पड़े थे। विद्या विहार परोरा से छठी से दसवीं तक की पढ़ाई करने के बाद शुभम बोकारो चले गए थे। साल 2014 से 18 तक IIT मुंबई में सिविल इंजीनियरिंग से बीटेक पूरी की। साल 2019 में भी वह यूपीएससी में 290 रैंक लाने के बाद फिलहाल इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस पुणे में पदस्थापित हैं। आखिरी बार वह 16 अगस्त को वो कटिहार अपने घर आए थे।

यूपीएससी टॉपर शुभम के पिता देवानंद सिंह, उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक के मैनेजर हैं। शुभम के पिता बताते हैं कि वे लोग कदवा प्रखंड के कुमरीही गांव के रहने वाले हैं। पूरा परिवार शिक्षा के प्रति कितना सजग है यह इस बात से साफ हो जाता है कि शुभम की बड़ी बहन अंकिता भी इंदौर में बड़े पद पर नौकरी में हैं। शुभम की मां पूनम देवी घरेलू महिला हैं और अपने बेटे की उपलब्धि पर बेहद खुश हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *