Darbhanga: फेस्टिव सीजन में बिहार आनेवाले यात्रियों को राहत, दरभंगा एयरपोर्ट के फ्लाइट्स प्राइस में बदलाव नहीं

दशहरा का पर्व नजदीक आ रहा है. एक माह से भी कम समय बच गया है. बाहर रहने वाले लोग दशहरा का पर्व मनाने गांव लौटते रहे हैं. सकुशल व आरामदायक यात्रा को लेकर, वे समय रहते तैयारी में जुट जाते हैं. दरभंगा से विमानों का परिचालन शुरु हो जाने से उनकी यात्रा और अधिक आसान हो गयी है. बावजूद इस साल विमानों पर यात्रियों का दबाव नहीं देखा जा रहा है.

इस कारण विमानों के किराये में बढ़ोतरी नहीं हुई है. प्राइस बेस पर ही टिकट उपलब्ध है. पिछले साल दशहरा में दिल्ली व मुंबइ से दरभंगा का किराया आठ हजार रुपये के आसपास पहुंच गया था. पिछले साल कोरोना की पहली लहर के बावजूद यात्रियों की काफी आवक हुई थी. इस साल अबतक यात्रियों में घर वापसी की दिलचस्पी नहीं दिख रही है.

सप्तमी व अष्टमी को दरभंगा आने का विमान किराया
शहर 12 अक्तूबर 13 अक्तूबर
दिल्ली 4019 4019
मुंबई 4563 4021
बेंगलुरु 4019 4019
अहमदाबाद 4667 4667
हैदराबाद 4137 4137
कोलकाता 3967 3967

दुर्गा पूजा को लेकर ट्रेनों पर दवाब नहीं- वहीं शारदीय नवरात्र को लेकर ट्रेनों में इस बार अब तक दवाब नहीं है. लंबी दूरी की अधिकांश गाड़ियां खाली चल रही हैं. जिन ट्रेनों में दुर्गा पूजा के समय वेटिंग टिकट भी नहीं मिला करता था, उन गाड़ियों में आरक्षण उपलब्ध है. दिल्ली आवागमन करने वाली उत्तर भारत की सबसे अधिक भीड़ वाली गाड़ियों में शुमार बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट में वेटिंग टिकट मिल रहा है.

सात से लेकर 11 अक्तूबर तक सौ से नीचे वेटिंग लिस्ट है. यह स्थिति स्लीपर क्लास की है, जबकि एसी श्रेणी में बर्थ मिल रहे हैं. दिल्ली की ही दूसरी ट्रेन स्वतंत्रता सेनानी में इससे भी कम दवाब है. दुर्गा पूजा के मध्य आरएएसी मिल रहा है. यह स्थिति कोलकाता व मुंबई की ओर से आने वाली गाड़ियों में भी है. सियालदह से आनेवाली गंगासागर एक्सप्रेस में सात अक्तूबर से रिजर्वेशन खाली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *