छपरा में स्वास्थ्य केंद्र से कोरोना वैक्सीन ले भागे दंबग, महिला टीकाकर्मियों को अपने घर चलने को कहा, नहीं मानी तो दिखाई ताकत

बिहार में कोरोना वैक्सीनेशन के दौरान तरह-तरह के कारनामे सामने आ रहे हैं. दो दिन पहले गोपालगंज में एक महिला स्वास्थ्यकर्मी का कारनामा सामने आया था जो टीका लेने आय़े लोगों को चप्पल से पीट रही थी. गोपालगंज में ही दीवार फांद कर खिडकी से टीका लेते एक आदमी का वीडियो वायरल हुआ था. अब पड़ोस के सारण यानी छपरा जिले में नयी घटना हुई है. टीकाकरण केंद्र से कुछ दबंग कोरोना वैक्सीन ही ले भागे.

मामला सारण जिले के दिघवारा प्रखंड के त्रिलोकचक का है. वहां मनरेगा भवन में टीकाकरण केंद्र लगाया गया है. इस केंद्र पर हुए एक वाकये का वीडियो वायरल हुआ है. वीडियो में दिख रहा है कि कुछ दबंग उधम मचाते हुए वैक्सीन की शीशी लेकर ही जा रहे हैं. वीडियो वायरल हुआ तो स्वास्थ्य महकमा हरकत में आय़ा. दिघवारा थाने में मामले की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने प्राथमिकी में कहा है कि कुछ लोगों ने वैक्सीनेशन के दौरान हंगामा खड़ा कर दिया. स्वास्थ्यकर्मियों के साथ बदसलूकी और मारपीट करते हुए जबरन कोरोना वैक्सीन की दो शीशी अपने साथ लेकर चले गये.

टीकाकरण केंद्र औऱ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ रोशन कुमार ने पुलिस में जो प्राथमिकी दर्ज करायी है उसके मुताबिक त्रिलोकचक पंचायत के मनरेगा भवन में वैक्सीनेशनन कैंप लगा था. टीकाकरण के दौरान गांव के ही लालबाबू सिंह, मनीष कुमार गुप्ता अपने कुछ दबंग साथियों के साथ कैंप में पहुंचे. उन्होंने महिला स्वास्थ्यकर्मियों उषा गुप्ता औऱ कुमारी मीना को कहा कि वे उनके साथ उनके घर चलें. घर पर चलकर उनके परिवार के लोगों को टीका लगायें. महिला टीकाकर्मियों ने कैंप छोड़ कर जाने से इंकार कर दिया. प्राथमिकी के मुताबिक जब महिला टीकाकर्मी उनके घर जाने को तैयार नहीं हुई तो दबंगों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया. उन्होंने कैंप में मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों के साथ बदसलूकी और मारपीट की. उन्हें जान मारने की धमकी भी दी गयी. इसके बाद वे कोरोना वैक्सीन की दो शीशी अपने साथ लेकर चले गये.

वैसे बाद में गांव के ही दूसरे लोगों से संपर्क साध कर उन्हें बताया कि वैक्सीन लेकर भागना कितनी गंभीर बात है और इस पर कितनी सख्त कार्रवाई हो सकती है. इसके बाद दबंगों ने वैक्सीन को वापस लौटा दिया है. लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है औऱ मामले की पडताल शुरू कर दिया है. स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के मना करने पर उनके साथ बदसलूकी की और दबाव बनाने लगे। स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा इन्कार करने पर मनीष कुमार ने मारपीट की। धमकी देते हुए कोरोना के दो वायल लेकर फरार हो गए। दबाव डाले जाने पर उन्‍होंने खाली वायल लौटा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *