चिराग-पारस खेमे में टकराव शुरू, खगड़िया में MP महमूद अली कैसर को दिखाया काला झंडा

लोजपा में हुई टूट के बाद अब चिराग और पारस गुट आमने-सामने है. बिहार की सियासत भी अब गरमाने लगी है. 5 जुलाई को रामविलास पासवान की जन्म जयन्ती है. उसी दिन लोजपा को दोनो खेमा बिहार में अपनी ताकत दिखाने की तैयारी में है. चिराग बिहार में आशीर्वाद यात्रा निकालने वाले हैं वहीं पारस गुट जयंती को बड़े स्तर पर मनाएगा. इस बीच खगड़िया पहुंचे पारस गुट के सांसद महबूब अली कैसर का चिराग समर्थकों ने काला झंडा दिखाकर विरोध किया है. चौधरी महबूब अली कैसर पारस गुट में शामिल हुए सांसदों में एक हैं. वो तीन दिवसीय कार्यक्रम को लेकर खगड़िया के दौरे पर हैं. शनिवार सुबह उनका काफिला जब गुजर रहा था तो चिराग गुट के कुछ समर्थक सड़क किनारे खड़े थे. जैसे ही काफिला नजदीक पहुंचा उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दी. ये वाक्या खगड़िया जिले के संसारपुर के पास हुआ. चिराग गुट के दर्जनों समर्थक सांसद की गाड़ी के सामने आ गए. उन्होंने काले झंडे दिखाने शुरू किये और जमकर नारेबाजी की. इस दौरान चिराग पासवान जिन्दाबाद के नारे लगाए गए.

चिराग समर्थकों को उग्र होता देख सांसद के काफिले में शामिल सुरक्षाकर्मियों को बीच में आना पड़ा और विरोध कर रहे लोगों को गाड़ी के सामने से हटाया गया. जिसके बाद काफिला आगे निकल सका. खगड़िया में लोजपा सांसद के साथ हुए घटना के बाद अब बिहार में दोनों खेमे के आमने-सामने होने की संभावना बढ़ गयी है. बता दें कि आगामी 5 जुलाइ को लोजपा के संस्थापक रामविलास पासवान की जन्म जयन्ती है. हाल में ही लोक जनशक्ति पार्टी में हुइ टूट के बाद दोनों खेमों ने इस दिन को अपनी ताकत दिखाने के लिए चुना है. चिराग पासवान का दावा है कि लोजपा के समर्थक उनके साथ हैं. इसी ताकत को दिखाने वो पूरे बिहार में इस दिन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत करने जा रहे हैं. वहीं पारस गुट ने भी कमर कस ली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *