कोरोना से बेख़बर ‘बच्चे’ घर में खूब कर रहे हैं मौज-मस्ती

Spread the love

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से बचाव के लिए राज्य सरकारें दिन-रात जनता क‌र्फ्यू ,नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन जैसी चीजों का सहारा ले रही हैं। ऐसे में एहतियात के तौर पर ही सही लोग घर में बैठे-बैठे काफी बोर हो रहे हैं लॉकडाउन के कारण केवल आम जनता ही नहीं बॉलीवुड सितारे भी खासे बोर होते नज़र आ रहे हैं। पर इस लॉकडाउन का एक सकारात्मक पहलू लोगों को खूब भा रहा है। पुरानी सामाजिक व्यवस्थाओं को याद करते हुए लोग मजबूरी में सही,लेकिन लॉकडाउन और कर्फ्यू को संक्रमण से बचाव के साथ परिवार में भी अपनापन को बढ़ाने का जरिया मान रहे हैं। बच्चों की तो इस माहौल में मौज़ हो गई है और वे घर में बैठ खूब मस्ती कर रहे हैं। बड़े लोग जहाँ एक तरफ आत्मानुशासन के साथ घर में रह टीवी देख व किताबें को पढ़ समय गुजार रहे हैं तो वहीं दूसरीओर बच्चों ने तो घर को ही खेल का मैदान बना लिया है। कोई लूडो खेल रहा, कोई चिड़िया उड़ा रहा है,कोई टेडी बियर की दिन रात धुलाई कर रहा है तो कोई घर में ही बैट-बाल लेकर जुट गया है।

नागपुर की सुरभि इस पर क्या कहती हैं-

नागपुर में अपने डॉक्टर पति गिरजेश चौहान के साथ रह रही सुरभि बताती हैं कि ‘पूरे दिन घर पर रहना तथा बच्चों को संभाल कर रखना टेढ़ी खीर से कम नहीं है। आम दिन-चर्या से एक अलग रूटीन में तालमेल बिठाना थोड़ा कठिन तो है पर कोशिश की जाये तो बेहतर ढंग से तालमेल बिठाया जा सकता है। वो कहती हैं कि हालांकि अब कोरोना धीरे-धीरे कम हो रहा है पर कोरोना से बचाव का सबसे कारगर तरीका मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग हैं इसलिए हमें इन्हें अपनी आदतों में शुमार करना होगा। इन्हें बेहतर ढंग से जीवन में ढालना होगा। इसके अलावा लोगों को कोरोना की चपेट में न आने के सभी जरूरी उपाय करने होंगे। हमें अपनी दिनचर्या में बदलाव और बच्चों को बेवज़ह घर से बाहर नहीं निकलने देना है इस पर अभी भी विशेष रूप से ध्यान देने की ज़रूरत है क्योंकि आपके द्वारा की गई जरा सी लापरवाही आपको और आपके परिवार को खतरे में डाल सकती है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.