कैदियों के लिए आरामगाह बना छपरा जेल, फोन पर बात और चैट करते फोटो वायरल, जेल अधीक्षक बोले-होगी कार्रवाई

छपरा जेल की सुरक्षा पर एक बार फिर सवाल खड़े होने लगे हैं। जेल के वार्ड में कुख्यात कैदियों का मोबाइल चलाते हुए फोटो वायरल होने के बाद जेल प्रशासन की नींद उड़ी हुई है। अति सुरक्षित माने जाने वाले छपरा जेल के वार्ड संख्या-20 के कई कुख्यात बंदियों का मोबाइल चलाते हुए तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस मामले में सारण SP संतोष कुमार ने बताया कि जांच के बाद एक मोबाइल फोन को जब्त किया गया है। SP ने इसे गंभीर मामला बताते हुए चिंता जताई है। वहीं, इस मामले में जेल अधीक्षक मनोज कुमार सिन्हा ने बताया कि जेल से वायरल फोटो के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है। इस मामले में शीघ्र कार्रवाई की जाएगी।

जेल के अंदर 16 CCTV कैमरे लगाए गए हैं। इसमें आधा दर्जन कैमरे अभी भी खराब हैं। ज्यादातर कैमरे बाहरी परिसर की तरफ लगे हैं। अंदर कैदियों की तरफ कैमरे नहीं है। छपरा जेल में कई बार छापेमारी के दौरान मोबाइल, चाकू सहित अन्य आपत्तिजनक सामान मिलता रहा है। इस सूरत में जेल के अंदर वार्डों में जैमर लगाने का निर्णय लिया गया था। मुख्यालय को रिपोर्ट भी गई है। लेकिन यहां जैमर नहीं लगा है। जिसके कारण कैदी आसानी से मोबाइल से जेल के अंदर से ही बात कर लेते हैं। अचरज की बात है कि ऑफिस में काम करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के मोबाइल फोन तो पूरी तरह जाम बताते हैं, लेकिन सजायाफ्ता और विचाराधीन बंदियों के बैरक वाले क्षेत्रों में जैमर काम नहीं कर रहा और बड़े आराम से मोबाइल पर बात होती है। जेल में अधिकारी-कर्मचारियों का मोबाइल से संपर्क जल्दी नहीं होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *