झारखंड की इन कंपनियों की संपत्ति नीलाम करने की तैयारी में है बिहार सरकार, जानिए वजह

Spread the love

झारखंड में स्थित छह कंपनियों की संपत्ति बिहार सरकार की वित्तीय एजेंसी नीलाम करेगी। बिहार साख एवं विनियोग निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक की ओर से इसके लिए सेल नोटिस जारी किया गया है। इन कंपनियों पर क्लेम है कि इसने राज्य सरकार की बिहार साख एवं विनियोग निगम लिमिटेड का कर्ज नहीं चुकाया है। इन कंपनियों को नीलाम कर बिहार सरकार डूब रहे कर्ज को वापस कराएगी। नीलामी में भाग लेने के लिए आवेदन देने की प्रक्रिया 11 जनवरी तक की जाएगी। 

नीलामी के लिए चुनी गई कंपनियों में तीन सीमेंट कंपनियां हैं। एक मशीन उपकरण बनाने वाली कंपनी और एक एलपीजी सिलेंडर बनाने वाली कंपनी है। अलग झारखंड राज्य बनने से पहले ही बिहार सरकार ने साख एवं विनियोग लिमिटेड के जरिए वर्तमान झारखंड (तब के दक्षिण बिहार) में औद्योगीकरण विस्तार हेतु कई कंपनियों की स्थापना के लिए लोन दिया था। 

इन कंपनियों की होगी नीलामी 

नाम                                          स्थान            उत्पाद
माइक्रो मेटल सेन एंड कंपनी      जसीडीह        मशीन टूल्स

मिनरल एसोसिएटेड इंडस्ट्रीज     गोड्डा             खनिज

नरसिंह सीमेंट कंपनी                गिरिडीह        सीमेंट

ऋषि सीमेंट कंपनी                    मांडू             सीमेंट

सिंहवाहिनी सीमेंट                     रामगढ़         सीमेंट

वाम इंजीनियरिंग                      जसीडीह        एलपीजी सिलेंडर

मगध स्मोकलेस कोकिंग कोल    औरंगाबाद       विशेष धुंआरहित ईंधन

बता दें कि राज्य बंटने के बाद झारखंड सरकार ने इन कंपनियों के कर्ज की जिम्मेवारी या बिहार साख विनियोग लिमिटेड की परिसंपत्तियों को लेने से इनकार कर दिया। इन कंपनियों ने भी कर्ज चुकाने में कोताही की। आगे साख एवं विनियोग लिमिटेड की स्थिति भी खराब हो गई। नीलामी के लिए तैयार की गई सात कंपनियों की सूची में झारखंड की छह कंपनियों के अलावा बिहार में औरंगाबाद की मगध स्मोकलेस कोकिंग कोल लिमिटेड भी है। कंपनियों की जमीन समेत प्लांट, मशीनरी और सारी परिसंपत्तियों के लिए बोली आमंत्रित की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *