बिहार आने से पहले चिराग ने PM मोदी का खींचा ध्‍यान, अब 5 जुलाई के शक्ति-परीक्षण की जबर्दस्‍त तैयारी

लोजपा सांसद चिराग पासवान ने बदले हालात में बिहार आने से पहले एक जबर्दस्‍त दांव चला है। वे अहमदाबाद जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक करीबी भारतीय जनता पार्टी नेता से मुलाकात कर आए हैं। माना जा रहा है कि यह प्रधानमंत्री का ध्‍यान खींचने की कोशिश है। चाचा पशुपति कुमार पारस द्वारा पार्टी में अलग-थलग कर दिए जाने के बाद उन्‍हें बीजेपी, खासकर नरेंद्र मोदी से मदद की उम्‍मीद थी, जो उन्‍हें मिलती नहीं दिख रही है। अगर अब भी उन्‍हें बीतेपी से बैकअप नहीं मिलता है तो शायद वे अपने रुख पर पु‍नर्विचार करें। इस बीच वे पांच जुलाई को पिता रामविलास पासवान की जयंती के अवसर पर हाजीपुर से अपनी आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे हैं। य‍ह यात्रा उनका शक्ति परीक्षण भी होगा। पटना से हाजीपुर तक उनके स्‍वागत की जबरदस्‍त तैयारी की गई है।

इधर, लोक जनशक्ति पार्टी (चिराग गुट) की प्रदेश कमेटी की बैठक में पांच जुलाई को रामविलास पासवान की जयंती समारोह और चिराग पासवान की आशीर्वाद यात्रा को ऐतिहासिक रूप से सफल बनाने का फैसला लिया गया। लोजपा के पूर्व विधायक राजकुमार साह की अध्यक्षता में मंगलवार को श्रीकृष्णापुरी स्थिति चिराग के आवास पर आयोजित बैठक में कार्यक्रम को सफल बनाने पर ज्यादा फोकस किया गया। बैठक की जानकारी देते हुए प्रवक्ता राजेश भट्ट ने बताया कि चिराग पासवान के बिहार आगमन पर उनका शानदार स्वागत की तैयारियां चल रही हैं। पटना एयरपोर्ट से हाजीपुर तक जगह-जगह पांच सौ तोरणद्वार बनाए जाएंगे, जबकि चिराग के काफिले में भी पांच सौ गाडिय़ां शामिल होंगी।

राजेश भट्ट ने बताया कि चिराग पासवान का स्वागत में पार्टी के प्रत्येक जिले के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व प्रत्याशी और अन्य पदाधिकारी जुटेंगे। हाजीपुर के सुल्तानपुर दलित बहुल बस्ती में रामविलास पासवान की जयंती समारोह में दो हजार से ज्यादा कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। बैठक में प्रदेश लोजपा के अध्यक्ष राजू तिवारी, प्रधान महासचिव संजय पासवान, संजय सिंह, डा. शाहनवाज अहमद कैफी समेत अन्य नेता शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *