हाजीपुर में विदाई समारोह में CO की पिटाई, लोगों ने नोटों की माला पहनाकर उतारी इज्जत

बिहार के हाजीपुर में सीओ पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर एक शख्स उनके पॉकेट में पैसा डाला जाने लगा और उनको नोटों की माला पहनाने लगा. मामला तब बढ़ गया जब शख्स की सीओ से हाथापाई होने लगी. हाजीपुर में बीच सड़क पर हो रहे इस तमाशे को देखने के लिए काफी संख्या में लोग भी जुट गए. इस हाथापाई का वीडियो किसी ने बना लिया और अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रहा है. दरअसल, बीते दिनों बिहार में बड़े पैमाने पर सरकारी अफसरों का ट्रांसफर हुआ है. वैशाली जिले के राघोपुर के सीओ अक्षय प्रताप सिंह का भी जिले से तबादला हुआ. तबादले के बाद हाजीपुर में सीओ के विदाई समारोह का आयोजन किया गया था. लेकिन विदाई समारोह के समय अजीबोगरीब हालात बन गए. कुछ लोग जबरन सीओ को नोटों की माला पहनाने लगे. सड़क किनारे हो रहे तमाशे को देखते हुए कुछ लोग सीओ को पकड़कर उन्हें उनके काम को लेकर सुनाने लगे.

मामले की जानकारी देते हुए पीड़ित रविकांत सिंह ने बताया कि उनकी जमीन का रसीद सीओ अक्षय प्रताप सिंह ने पैसे लेकर किसी दूसरे शख्स के नाम से काट दिया है. जिसके नाम से रसीद काटा गया है वो उस इलाके का अपराधी है. उनकी जमीन पर जबरदस्ती कब्जा करने के लिए गोली-बंदूक के साथ जब ना तब आ धमकता है. इतने में सीओ अक्षय प्रताप सिंह को घेरे भीड़ ने भी आरोप लगाया कि सीओ ने अपने तबादले के बाद पैसे लेकर नाजायज फैसले कर दिए. उन्होंने सीओ पर दो लाख रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगाया. बवाल के बीच बात हाथापाई तक पहुंच गई. जब सीओ साहब भागने लगे तो लोगों ने उन्हें खदेड़ कर पकड़ लिया और सड़क किनारे बैठा दिया. काफी देर तक चले तमाशे के बाद स्थानीय लोगों की पहल पर सीओ किसी तरह निकल पाए. सीओ अक्षय प्रताप सिंह का विदाई समारोह के लिए गाड़ी को फूलों से सजाया गया था मगर सम्मान कार्यक्रम बेइज्जती समारोह में बदल गया. पूरे बेइज्जती पर जाते-जाते अक्षय प्रताप सिंह ने बस इतना कहा कि DCLR के आदेश का अनुपालन किया गया था. इसके बाद गाड़ी में बैठकर निकल गए. फिलहाल यह पूरा मामला इलाके में चर्चा ला विषय बना हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *