बिहार में पक रही सियासी ‘खिचड़ी’, लालू के इशारे पर श्याम रजक मिले चिराग से, दलित वोट पर राजद की नजर

अपनी ही लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) में संकट का सामना कर रहे चिराग पासवान (Chirag Paswan) को राजद की तरफ से लगातार साथ आने का ऑफर मिल रहा है. पहले तेजस्वी यादव (RJD Leader Tejashwi Yadav) ने आगे बढ़ कर चिराग को साथ आने का ऑफर दिया था और अब राजद के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक (Shyam Rajak) ने दिल्ली में उनसे मुलाकात कर राजनीतिक बदलाव के संकेत दिए हैं. इससे पहले राजद के एक विधायक से भी चिराग की मुलाकात चर्चा में रही थी.वहीं, चिराग पासवान ने भाजपा के साथ अपने रिश्ते पर पहले ही कह दिया है कि भाजपा और एनडीए के साथ गठबंधन पर अब चुनाव के वक्‍त विचार किया जाएगा. बहरहाल, रविवार को श्‍याम रजक ने दिल्ली में चिराग पासवान से मुलाकात की. हालांकि उन्‍होंने इस मुलाकात को व्‍यक्तिगत बताया है, लेकिन सियासी हलके में इसको लेकर चर्चाएं तेज हैं. श्याम रजक ने चिराग से पहले शनिवार को दिल्‍ली में लालू प्रसाद यादव से भी मुलाकात की थी. माना जा रहा है कि लालू यादव के कहने पर हीं श्याम रजक चिराग पासवान से मिलने गए. जबकि शनिवार को ही चिराग पासवान भी बिहार में अपनी आशीर्वाद यात्रा के कार्यक्रम को छोड़ अचानक दिल्‍ली पहुंचे थे. अब जब दिल्ली में दोनों नेताओं की मुलाका हुई है तो इसे लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं.

खबर ये भी है कि लालू प्रसाद यादव के निर्देश के बाद श्याम रजक, दलित नेताओं को एकजुट करने में लग गए हैं. जबकि रजक ने चिराग पासवान से मिलने से पहले बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास और पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार से भी मुलाकात की है. दलित नेताओं से श्याम रजक की मुलाकात को चिराग पासवान को महागठबंधन के साथ लाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है. बता दें कि पिछले दिनों पशुपति कुमार पारस अपने भतीजे चिराग पासवान के साथ बगावत करते हुए पांच सांसदों के साथ मिलकर लोजपा संसदीय दल के नेता बन गए. इसके बाद उन्हें अध्यक्ष भी चुन लिया गया. यही नहीं, पशुपति पारस मोदी कैबिनेट में मंत्री भी बन गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *