मंडप में पुलिस के पहुंचते ही मांग में सिंदूर भरने से पहले सेहरा फेंक भागा दूल्हा, नाबालिग हैं दोनों

पटना में एक दूल्हे को नाबालिग से शादी करना महंगा पड़ गया। नाबालिग से प्यार करने के बाद लड़का उससे शादी की जिद पर अड़ गया। परिवार वालों ने भी जिद मान ली, जिसके बाद पूरे रीति-रिवाज के साथ मंदिर में शादी हो रही थी। पुलिस को इस बात की भनक लग गई। बस क्या था, दल-बल के साथ पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। शादी की रस्म शुरू हो चुकी थी। जयमाला के बाद मंगल गीत गाए जा रहे थे। इसी बीच पुलिस आई तो दूल्हा मंडप छोड़ भाग गया। इस दौरान शादी के बीच अफरातफरी का माहौल हो गया। बराती-घराती दोनों इधर-उधर भागने लगे।

दरअसल, हुआ कुछ यूं कि प्रेम-प्रसंग के बाद युवक अपनी प्रेमिका से शादी करने के लिए दुल्हिन बाजार के उलार मंदिर पहुंचा था। बराती-शराती दोनों पक्षों के लोग मंदिर में शादी के साक्षी बनने आए थे। इसी दौरान मौके पर पुलिस पहुंच गई। दूल्हा के भागते ही पुलिस उसकी तलाश में जुट गई। शादी में आए लोगों ने बताया कि लड़का और लड़की दोनों ही नाबालिग हैं। अनिल साव के बेटे रमेश साव (16 साल) को एक नाबालिग लड़की से प्यार हो गया। प्यार का परवान कुछ यूं रमेश पर चढ़ा कि वह अपने घर में शादी के लिए बगावत पर उतर आया।

घरवालों को उसकी जिद माननी पड़ी। इधर, लड़की की मां ने भी दहेज में रमेश के नाम पर एक कट्ठा जमीन लिख दिया। दोनों परिवारों की राजीखुशी के बाद 4 जुलाई को शादी हो रही थी। दुल्हिन बाजार थानाध्यक्ष ने बताया कि नाबालिग की उम्र सर्टिफिकेट के अनुसार 16 साल ही थी। फिलहाल मामले में परिवारों ने अपनी गलती मान ली है और दोबारा ऐसा नहीं करने की बात की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *