मोदी कैबिनेट विस्तार के बाद बंद कमरे में एक घंटे तक ललन-कुशवाहा की हुई बातचीत, निकाले जा रहे कई मायने

केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार (Modi Cabinet Expansion) के बाद जेडीयू में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. खबर थी कि सीएएम नीतीश कुमार मंत्रिमंडल विस्तार में जेडीयू की ओर से की गई कवायद से खुश नहीं हैं. बताया यह भी जा रहा था कि वे आरसीपी सिंह की कार्यशैली से भी नाराज हैं. इसी बीच जदयू के कद्दावर नेता ललन सिंह (Lalan Singh) पार्टी के संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) से मिलने उनके सरकारी आवास पहुंचने भर से ही सियासी हलचल तेज हो गई. दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक बंद कमरे में मुलाकात हुई है. ललन सिंह उपेंद्र कुशवाहा की इस मुलाकात के कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं. उपेंद्र कुशवाहा से मुलाकात के बाद बाहर निकले ललन सिंह ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा हमारे साथी हैं. इन से मुलाकात के कोई राजनीतिक मायने नहीं निकाले जाने चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि जेडीयू में सब कुछ ठीक है. वहीं, मंत्रिमंडल विस्तार के सवाल पर जेडीयू सांसद ललन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ कह दिया था कि राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपीसी इसके लिए अधिकृत हैं. इस पर मैं क्या कर सकता हूं.

इस मुलाकात के बाद जदयू सांसद ललन सिंह ने कहा कि जदयू में सब कुछ ठीक-ठाक है, कहीं कोई गड़बड़ी नहीं है. वहीं, उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि इस मुलाकात को मंत्रिमंडल विस्तार से जोड़कर नहीं देखें. हमलोग आपस में मिलते-जुलते रहते हैं. कभी वह मेरे घर आते हैं कभी हम उनके घर जाते हैं और मुलाकातों का सिलसिला चलता रहता है. कुशवाहा ने कहा कि इस मुलाकात को राजनीतिक नजर से देखने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार का मामला खत्म हो गया है. मंत्रिपरिषद में शामिल होने को लेकर जेडीयू में कोई विवाद नहीं है. जदयू को आगे कैसे मजबूत करना है इस विषय पर दोनों के बीच चर्चा हुई है. उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि कल से मेरी यात्रा चंपारण से शुरू हो रही है इस विषय पर भी ललन सिंह से बातचीत हुई है.

बता दें कि आरसीपी सिंह के मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद से ही जेडीयू में अंदरुनी गतिरोध की खबरें आ रही हैं. सीएम नीतीश कुमार द्वार आरसीपी सिंह को बधाई नहीं दिए जाने को भी ललन सिंह की नाराजगी से जोड़कर देखा जा रहा है. दरअसल आरसीपी सिंह के साथ ही ललन सिंह को भी केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने की बात चल रही थी, लेकिन अंत समय में सिर्फ आरसीपी सिंह ही मोदी कैबिनेट  में जगह बना पाए. इसके बाद से ही जेडीयू में सबकुछ सामान्य नहीं होने की खबरें भी आ रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *