बिहार-यूपी को जोड़नेवाली सड़क धंसी, गाड़ियों की लगी लंबी लाइन, दूल्हा-दुल्हन भी बीच सड़क पर फंसे

बेतिया में तेज बारिश की वजह से बिहार-UP को जोड़नेवाली एकमात्र सड़क धंस गई है। सड़क धंसने से इसके निर्माण की गुणवत्ता की भी पोल खुल गई है। 26 नवंबर 2013 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसका उद्घाटन किया था। आठ साल में ही 500 करोड़ की लागत से बनी सड़क नैनाहा ढाला के पास पूरी तरह से धंस गई। सड़क धंसने से गाड़ियों की लंबी लाइन लग गई है। बारिश के बीच जाम में एक दूल्हा और दुल्हन की गाड़ी भी फंसी हुई है।

2010 में रतवल से धनहा तक गौतम बुद्ध सेतु को जोड़ने के लिए अप्रोच बांध और सड़क का निर्माण कराया गया था। बिहार राज्य पुल निर्माण निगम द्वारा गंडक नदी में पुल का निर्माण कराते हुए धनहा से रतवल तक इस मुख्य मार्ग और गौतम बुद्ध सेतु का निर्माण कराया गया था। जिसमें सरकार के लगभग 5 सौ करोड़ रुपये खर्च हुए थे। CM नीतीश कुमार ने घनह गौतम बुद्ध सेतु पहुंचकर इस सड़क का उद्घाटन किया था। यह सड़क ही बिहार और UP को जोड़ती है।

इस सड़क को बनाने के लिए पहले बांध का निर्माण किया गया है। सड़क और बांध बनने की वजह से यहां के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। करीब 10 गांवों के ऊपर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। यहां के नैनाहा, करैया बसौली, पकाहा, मानपुर, उरदही, चुरही, सिसही आदि गांव में गंडक नदी का पानी घुस जाएगा, जिसमें दर्जनों गांव के लोगों के लिए मुसीबत खड़ी हो सकती है। गुरुवार की रात से लगातार हुई बारिश के बाद सड़क धंस गई है। मुख्य मार्ग होने के कारण सैकड़ों की संख्या में गाड़ियां फंसी हुई हैं। एक दूल्हा और दुल्हन भी लाइन में लगे हुए हैं। दूल्हे का कहना है कि करीब 5 घंटे से फंसा हुआ हूं। निकलने का कोई रास्ता ही नहीं दिख रहा है। खबर लिखे जाने तक प्रशासन का कोई पदाधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा है। विभाग से जुड़े कोई भी कर्मचारी और अधिकारी भी नहीं दिखे हैं। इसको लेकर भी स्थानीय लोगों में आक्रोश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *