8वां थिएटरवाला युवा सम्मान जयप्रकाश को, कार्यकारिणी समिति की बैठक में हुआ निर्णय

Spread the love

PATNA : पटना की कार्यकारिणी समिति की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि इस वर्ष 8वाँ थिएटरवाला युवा सम्मान युवा रंगकर्मी जयप्रकाश को दिया जाएगा। जयप्रकाश पिछले 20 वर्षों से बिहार में कार्यरत विचारवान संस्कृतिकर्मी हैं। जयप्रकाश बड़े भाई साहब, अक्करमाशी, शम्बूक वध, द ब्लैक हर्मिट, त हम क्वारें रहें, सैया भैये कोतवाल, न्यायप्रिय, राग दरबारी, सैया भैये कोतवाल, अंधेर नगरी, बाक़ी इतिहास जैसे नाटकों में अभिनय किया है। देश के लगभग प्रतिष्टित नाट्य समारोहों में इनकी सहभागिता रही है और बिहार के लगभग प्रमुख निर्देशकों के साथ इन्होंने कार्य किया है। इसके साथ ही ताजमहल का टेंडर, अंधेर नगरी, बड़े भाई साहब, मौलाना आज़ाद, अंधेरे के राही, तेरा नहीं मेरा नहीं सब कुछ हमारा, गड्ढा सहित कई नाटकों का निर्देशन करने के साथ कई कार्यशाला का भी सफल आयोजन किया है। जयप्रकाश बिहार की लोकप्रिय नाट्यदल अभियान सांस्कृतिक संस्थान से जुड़े हैं और जन सरोकार के विभिन्न मुद्दों को लेकर जनता के बीच खड़े और मुखर संस्कृतिकर्मी हैं। 

आज अजित गांगुली की 81वीं जयंती है

अजित गांगुली बिहार आर्ट थिएटर से सम्बद्ध बिहार के प्रतिष्ठित नाट्य निर्देशक थे। ज्ञात हो कि रंग मंच, पटना अपने स्थापना वर्ष से ही बिहार के प्रतिष्टित रंगकर्मी अजित गांगुली की स्मृति में पांच दिवसीय थिएटरवाला नाट्योस्तव का आयोजन करते आ रही है। इस नाट्योस्तव में बिहार में कार्यरत 40 वर्ष से कम उम्र के युवा निर्देशकों के नाटकों का मंचन किया जाता है। अब तक रणधीर कुमार, मनोज मानव, अजित कुमार, श्याम कुमार साहनी, चैतन्य प्रकाश, उज्ज्वला गांगुली, बुल्लू कुमार को सम्मानित किया जा चुका है। ये जानकारी रंग मंच, पटना की सचिव नूपुर चक्रबर्ती ने दी।

कोरोना की वजह से नाट्योत्सव फिलहाल रद्द

इस वर्ष भी ये पांच दिवसीय 8वाँ थिएटरवाला नाट्योत्सव आयोजन 22-26 फरवरी, 2022 को कालिदास रंगालय, पटना में प्रस्तावित था, लेकिन वर्तमान में कोरोना से उपजे हालात और बिहार सरकार के आदेश के आलोक में इसे अगले आदेश तक स्थगित किया गया है। कोरोना हालात के बाद स्थिति सामान्य होने पर इस आयोजन को किया जाएगा और युवा रंगकर्मी जयप्रकाश को सम्मानित किया जायेगा। इसके साथ ही रंग मंच पटना की आगामी नाट्य गतिविधियों में एक्ट्रेस, एक और मोहरा, कालापानी नाटकों की तैयारी पूरी हो गई थी, जिसका पटना, सीतामढ़ी, सियालदह सहित देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन होना था, जिसे फिलहाल रद्द किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *