बिहार बीजेपी मीडिया प्रभारी पर बरसी लाठियां,जनता में रोष,बिहार पुलिस को लेकर।

Spread the love

पटना,

लॉकडाउन के दौरान लोगों को जरूरत की चीजो के लिए बाहर जाने पर रोक नहीं होने के बावजूद रविवार को आटा खरीदने निकले बिहार भाजपा इकाई के मीडिया प्रभारी राकेश कुमार सिंह के साथ पुलिस ने पटना के कोतवाली थाना क्षेत्र में मारपीट व गाली गलौज किया । राकेश ने गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह राज्य की राजधानी में आर-ब्लॉक गोल चक्कर के पास सुबह 6:30 बजे गेहूं का आटा खरीदने जा रहे थे तभी गश्ती पर निकले कोतवाली थाना के पुलिसकर्मियों ने परिचय दिए जाने के बावजूद मेरे साथ मारपीट की और अभद्रता पूर्ण व्यवहार किया मेरे साथ । उन्होंने ये भी कहा “एक पुलिस जिप्सी, जो अपनी गश्त ड्यूटी पर थी, ने अचानक मुझे आर-ब्लॉक गोल चक्कर के एक मंदिर के पास रोका और उसपर सवार पुलिसकर्मी मुझसे पूछताछ करने लगे कि मैं कहां से आ रहा हूं और मैं कहां जा रहा हूं। मैंने उनसे कहा कि मैं आटा खरीदने जा रहा हूं। ” पुलिसकर्मियों ने मुझसे आगे पूछा कि मैं क्या करता हूं। मेरे यह कहने पर कि मैं बिहार भाजपा का मीडिया प्रभारी हूं, एक कांस्टेबल ने अचानक मुझ पर डंडा बरसाना शुरू कर दिया। इसी बीच पुलिस वाहन से उतर कर सहायक निरीक्षक के भी मुझपर डंडा बरसाना शुरू कर दिया और मेरे द्वारा खुद को बचाने के लिए भागने के दौरान भी वे मुझपर डंडा बरसाते रहे। उन्होंने कहा, “मुझे बाएं पैर की जांघ और बाएं पैर के अंगूठे में चोट लगी है जो कि राजवंशी नगर स्थित ऑर्थो अस्पताल में किए गए एक एक्स-रे रिपोर्ट से साबित हुआ है” । यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने कोई शिकायत या प्राथमिकी दर्ज कराई है या नहीं, सिंह ने कहा कि उन्होंने कोई शिकायत दर्ज नहीं की है, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को घटना बताई है, जिन्होंने पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है। कोतवाली थाना अध्यक्ष राम शंकर सिंह ने कहा कि घटना में कौन कौन लोग शामिल थे, पुलिस द्वारा पता लगाया जा रहा है। यह पूछे जाने पर कि भाजपा मीडिया प्रभारी ने इस संबंध में कोई शिकायत दर्ज करायी है या नहीं, थाना अध्यक्ष ने कहा कि “मैंने (राकेश सिंह) से मीडिया में आयी रिपोर्ट के आधार पर फोन पर बात की है।” तो उधर बिहार भाजपा के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने घटना की निंदा करते हुए ये मांग कीहै , कि घटना में शामिल पुलिसकर्मियों की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। पटेल ने कहा कि उन्होंने पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय से भी इस घटना में शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।अब देखिए इस मामले में बिहार पुलिस दोषी पुलिस कर्मियो पर क्या कार्यवाही करती है ,जब नेता सुरक्षित नहीं तब बिहार की जनता का क्या हाल होगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.