योगी सरकार ने बिहार से आ रहे शवों के अंतिम संस्कार पर लगाई रोक.!

कोरोना महामारी के महासंकट से पूरा देश जूझ रहा है वहीं दूसरी तरफ सियासत का खेल भी बदस्तूर जारी है दरअसल, बिहार के शवों का यूपी में दाह संस्कार करने पर योगी सरकार ने रोक लगा दी है. सोमवार शाम से ही यूपी सरकार ने पुलिस प्रशासन को बिहार से आने वाले शव को यूपी में प्रवेश नहीं दिए जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं. अब तक कैमूर के बिहार यूपी के बॉर्डर से एक दर्जन से अधिक शव को वापस कराया जा चुका है.सभी बॉर्डर इलाके में चैकपोस्ट बनाकर विधिवत पुलिस की तैनाती कर दी गई है और सभी शवों को एक-एक कर लौटाया जा रहा है.

क्या कहना है गांववालों का- बिहार यूपी के बॉर्डर पर बसे गांव के लोग कह रहे हैं कि हम लोग बाप दादा के जमाने से अगर गांव में किसी की भी मौत होती है तो यूपी में गंगा नदी के किनारे शव जलाकर अस्थियां गंगा में विसर्जित करते हैं. यह शुरू से ही परंपरा चली आ रही है. हम लोगों ने कभी नहीं सुना कि किसी के शव को कोई सरकार रोक दे. पहली बार ऐसा हो रहा है की शव लेकर लोग जा रहे हैं तो यूपी की पुलिस वापस लौटा दे रही है. कह रही है कि बिहार के शव का यूपी में दाह संस्कार नहीं होगा

हम भी नहीं घुसने देंगे –यूपी सरकार के इस तुग़लकी फरमान के बाद कैमूर के लोगों ने भी कहा कि अगर बिहार के शवों का यूपी में सरकार दाह संस्कार नहीं करने देगी, तो हम लोग यूपी वालों को बिहार के गया में होने वाले पिंडदान को भी नहीं होने देंगे. उनको भी बॉर्डर पर रोकेंगे. बिहार और यूपी दोनों जगहों पर एनडीए गवर्नमेंट है. बक्सर के चौसा में नदी में तैरते लाश मिलने के बाद यूपी गवर्नमेंट ने बिहार के शव का दाह संस्कार पर यूपी में पूरी तरह से रोक लगा दिया है जिसके बाद वाहन बॉर्डर से वापस लौट रहे हैं.

पप्पू यादव ने कसा तंज –जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने योगी सरकार के इस निर्णय की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए ट्वीटर पर लिखा है -बिहार का शव काशी बनारस में नहीं जलेगा : यूपी सरकार क्या ढोंगी योगी शव जलाने में वन नेशन नहीं रहा। अब लाश का भी आधार कार्ड चाहिए! बेशर्म!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *