संपूर्ण क्रांति दिवस के अवसर पर ‘जाप’ का राज्यव्यापी सामूहिक उपवास

संपूर्ण क्रांति दिवस के अवसर पर जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के द्वारा आज पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव की रिहाई समेत पांच सूत्री मांगों को लेकर नालंदा हॉस्पिटल मोड़ पर रणधीर प्रसाद उर्फ़ बब्लू यादव की अध्यक्षता में सामूहिक उपवास रखा गया. इस राज्यव्यापी सामूहिक उपवास में जाप दलित प्रकोष्ट के जिला अध्यक्ष मुकेश पशपाल, जिला उपाध्यक्ष आदर्श पटेल, छात्र जिला अध्यक्ष राकेश कुमार, छात्र जिला उपाध्यक्ष रंजन यादव, गुलशन कुमार, युवा प्रदेश महासचिव मनीष यादव, अजीत कुशवाहा, विकास कुमार, चन्दन विश्वकर्मा, राजेश यादव, रंजीत यादव, संजीव कुमार , राजीव कुमार सिंह , गुड्डू आलम इमरान परवेज, सत्यानंद यादव, नवीन कुमार, मुकुल राज आदि लोग मौजूद रहे.

क्या हैं पांच सूत्री मांगें-

रणधीर प्रसाद उर्फ़ बब्लू यादव ने कहा कि- आज 5 मई को संपूर्ण क्रांति दिवस के अवसर पर जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के द्वारा बिहार में अस्पतालों की बदहाली, कोरोना मृतकों को अविलंब मुआवजा देने, कोरोना आदि महामारी का नि:शुल्क इलाज कराने, वैक्सीनेशन की गति तेज करने और श्री पप्पू यादव जी को रिहा करने की मांग को लेकर राज्यव्यापी सामूहिक उपवास रखा गया है. ये सभी जनता के मुद्दे हैं और जनता के मुद्दे पर जाप हमेशा मुखरता से संघर्ष करती रही है आज भी हम जनता के हक़ और प्रदेश की सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ सामूहिक उपवास कर एक सन्देश देना चाहते हैं.

और क्या कहा जाप नेताओं ने-

बब्लू यादव समेत अन्य जाप नेताओं ने पप्पू यादव की साजिशन जेल में डालने की घटना पर रोष व्यक्त किया और कहा कि महामारी के दौर में जनता की सेवा कर रहे श्री पप्पू यादव की एक साजिश के तरह गिरफ्तारी हुई. इसकी निंदा देश भर में हो रही है. वहीं एम्बुलेंस चोर भाजपा नेताओं पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. यही वजह है कि पप्पू यादव को रिहा करने की मांग अब वैश्विक हो चली है. नीतीश सरकार ने उस लोकतंत्र को कलंकित करने का काम किया, जिसने दुनिया को लोकतंत्र सिखाया. वरना मुश्किल हालात में लोगों की सेवा कर रहे एक जन सेवक को साजिश के तहत जेल में डालने का घृणित कृत्य नहीं करती.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *