जमानत ख़ारिज होने से बिहार की जनता मायूस है- राजू दानवीर

32 वर्ष पुराने अपहरण मामले में जेल में बंद जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और पूर्व सांसद पप्पू यादव को कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. पप्पू यादव को इस मामले में मधेपुरा कोर्ट ने जमानत नहीं दी. मंगलवार को डीजे रमेश चन्द्र मालवीय ने जमानत याचिका पर सुनवाई की और उनकी जमानत की याचिका को खारिज कर दिया.पटना से गिरफ्तार किए गए पूर्व सांसद 20 दिनों से जेल में बंद हैं. पप्पू यादव की रिहाई को लेकर उनके समर्थक सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक में मुहिम चला रहे हैं. इस बीच जन अधिकार युवा परिषद के प्रदेश अध्यक्ष राजू दानवीर ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव की जमानत खारिज होने के बाद कहा कि आज बिहार ही नहीं देश भर की जनता को उम्मीद थी कि जन-जन के सेवक श्री पप्पू यादव जी को ज़मानत मिलेगी। लेकिन उन्हें जमानत नहीं मिली, इससे जनता मायूस है। उन्होंने कहा कि श्री पप्पू यादव को एक सुनियोजित राजनीतिक साजिश के तहत जेल भेजा गया और अब उनकी जमानत में भी अड़ंगा लगाया जा रहा है, ताकि सत्ताधारी दल और विपक्ष की नाकामियों की पोल न खुल जाये।

माननीय न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हैं-

दानवीर ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि हम माननीय न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हैं। हमें न्यायालय पर भरोसा है। लेकिन हम खुद को जेपी के अनुयायी कहने वालों से मांग करते हैं कि वे लोकतंत्र की हत्या न करें और राजनीतिक साजिश से बाज आएं और जनता के सेवक श्री पप्पू यादव को रिहा करें।

याचना नहीं अब रण होगा-

जन अधिकार युवा परिषद के प्रदेश अध्यक्ष राजू दानवीर ने कहा कि अगर पप्पू यादव अब किसी साजिश का शिकार होते हैं तो संघर्ष बड़ा भीषण होगा, याचना नहीं अब रण होगा। सब्र का बांध टूटने लगा है। श्री पप्पू यादव जी की रिहाई की आवाज अब क्रांति बन गई। क्या देश, क्या प्रदेश। हर ओर से बस एक ही आवाज आ रही – जनता के सेवक श्री पप्पू यादव को रिहा करना ही होगा। हम न्याय पसंद आदमी हैं। अन्याय हमें बर्दाश्त नहीं। इसलिए श्री पप्पू यादव की रिहाई जल्द हो। और जेल भेजे जाएं एम्बुलेंस चोर रूडी वरना शुरु हुआ आंदोलन और जोड़ पकड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *