गरीबों का मसीहा,बाहुबली इन बिहार ‘पप्पू यादव’

आज यह सवाल हर शख़्स के मन में उठ रहा है कि पिछले कुछ सालों से गरीबों की लगातार सेवा कर रहे पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव को गिरफ्तार करने की इतनी भी क्या जल्दी थी..? दरअसल पप्पू यादव हमेशा से ही बाहुबली नेता रहे हैं बिहार जैसे पिछड़े राज्य में जब-जब कोई त्रासदी आई तब-तब पप्पू यादव और उनके सहयोगी लोगों की मदद करते नज़र आये. बिहार में बाढ़ का कहर हो या फिर कोरोना महामारी जैसी आपदा हर जगह पप्पू यादव ने अपनी उपस्तिथि दर्ज करा निःस्वार्थ भाव से लोगों से जुड़े रहे एक तरफ जहां सरकार और उससे जुड़े लोग जनता की सहायता करने में विफल रहे वहीं पप्पू यादव एक पैर पर खड़े नज़र आये परन्तु अब बिहार की नीतीश सरकार ने उन्हें जेल में डाल दिया है इसलिए यह सवाल हर व्यक्ति के मन में उठ रहा है कि क्या यह बदले की मंशा से की गई राजनीतिक कार्यवाही तो नहीं ?

कोरोना काल में लगातार कर रहे थे लोगों की मदद – भारत सहित पूरे बिहार में कोरोना की दूसरी लहर के डर से जब तमाम पार्टियों के नेता अपने-अपने घरों में बैठ मौज उड़ा रहे थे इस बीच एक जनप्रतिनिधि और समाजिक कार्यकर्ता के रूप में पूर्व सांसद पप्पू यादव बिहार की सड़कों पर उतरकर लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करा रहे थे और मरीजों को अस्पताल में भर्ती करा उनकी दवा का इंतजाम कर रहे थे.

एम्बुलेंस कांड का किया पर्दाफाश- बिहार में कोरोना संकट के बीच जब लोग अपने मरीजों को अस्पताल ले जाने और वहां से लाने के लिए एंबुलेस के लिए दर-दर भटक रहे थे तब पप्पू यादव ने सारण जाकर बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के फॉर्महाउस पर खड़ी दर्जनों एंबुलेंस का वीडियो वायरल अपने सोशल मीडिया अकांउड से जारी कर तथाकथित एम्बुलेंस कांड का पर्दाफाश किया था.

गरीबों का मसीहा- पटना हो या फिर गोपालगंज से लेकर कोसी क्षेत्र जहाँ भी बाढ़ आई हर जगह पप्पू यादव और उनके लोग खड़े नजर आए.यहाँ तक कि कोरोना महामारी के चलते पिछले साल जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर में लॉकडाउन लगाया तो बिहार के हजारों मजदूर घर वापसी के लिए सड़कों पर सैकड़ों किलोमीटर पैदल ही निकल लिए. तब पप्पू यादव और वो तथा उनकी टीम जरूरतमंदों की सहायता करती नजर आई. उन्होंने इसके लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया था जरूरतमंदों को मदद पहुंचाने, पैसा, दवा, राशन-पानी उपलब्ध करवाने और अति आवश्यक यात्रा के लिए गाड़ी की व्यवस्था करने तक का जिम्मा पप्पू ने अपने सर उठा लिया था.

किस मामले में गए जेल- पप्‍पू यादव को करीब 30 साल पुराने अपहरण के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है। मधेपुरा की कोर्ट ने उन्‍हें न्‍यायिक हिरासत में भेजने का आदेश मंगलवार की देर रात दिया। उन्‍हें पटना के मंदिरी स्थित उनके आवास से लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। मंगलवार की सुबह उन्‍हें हिरासत में लेने के बाद पहले पटना के गांधी मैदान थाना ले जाया गया था। फिलहाल उन्हें सुपौल जिले की वीरपुर जेल में रखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *