दुनिया में कहीं भी बच्चों में ज्यादा गंभीर संक्रमण नहीं

भारत में कोरोना महामारी की दूसरी लहर कमजोर होने से नए केस लगातार कम हो रहे हैं। तीसरी लहर में बच्चों पर इसके बुरे असर की खबरों के बीच सरकार ने राहत भरा दावा किया है। सूत्रों के अनुसार एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने मंगलवार को बताया कि भारत या दुनिया के मामले देखें तो अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया, जिसमें दिखाया गया है कि बच्चों में अब ज्यादा गंभीर संक्रमण है। अभी ऐसे सबूत नहीं हैं कि अगर कोविड कि अगली लहर आएगी तो बच्चों में ज्यादा गंभीर संक्रमण होगा।

रिकवरी रेट 94.3%, एक्टिव केस घटकर 13 लाख हुए-

स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने बताया कि देश में एक्टिव केस घटकर 13 लाख हो गए हैं। होम आइसोलेशन और हॉस्पिटल मिलाकर रिकवरी रेट 94.3% हो चुका है। 1 से 7 जून तक पॉजिटिविटी रेट में 6.3% की कमी आई है। उन्होंने कहा कि 7 मई को देश में एक दिन में 4.14 लाख नए केस दर्ज किए गए थे। अब ये एक लाख से भी कम हो गए हैं।

पिछले एक सप्ताह में नए केस में 33% की कमी-

पिछले 24 घंटों में देश में 86,498 मामले दर्ज किए गए हैं। यह 3 अप्रैल के बाद अब तक एक दिन के सबसे कम मामले हैं। 4 मई को 531 ऐसे जिले थे, जहां रोज 100 से ज्यादा मामले दर्ज किए जा रहे थे। ऐसे जिले अब 209 रह गए हैं। पिछले एक सप्ताह में नए केस में 33% और एक्टिव केस में 65% की कमी आई है। अब 15 राज्यों में पॉजिटिविटी रेट 5% से कम हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *