एक भी व्यक्ति भूखा न रहे यही हमारा उदेश्य है- सुमित कुमार सिंह

कोरोना संक्रमण काल में जहां चारों तरफ नकारात्मकता का माहौल है वहीं कुछ सकारात्मक पहल के अनूठे उदाहरण भी सामने आ रहे हैं दरअसल चकाई विधानसभा क्षेत्र से विधायक एवं बिहार सरकार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह द्वारा चकाई के ग्रामीण इलाके की चार अलग-अलग जगहों पर सामुदायिक किचेन संचालित किये जा रहे हैं इन सभी सामुदायिक रसोई का उद्देश्य कोरोना काल में गरीब और असहाय लोगों को भोजन उपलब्ध करवाना एवं ‘एक भी व्यक्ति भूखा न रहे’ के उद्देश्य से काम करना है सामुदायिक किचेन में खाने की गुणवत्ता, स्वच्छता, शुद्धता पर विशेष ध्यान रखा जाता है। इस सकारात्मक पहल के संदर्भ में सुमित कुमार अक्सर कहते हैं कि “लॉकडाउन में कोई भूखा नहीं रह जाए, इसके लिए सरकार ने सामुदायिक रसोई शुरू करने का फैसला लिया है। निर्धन, मजदूर, नि:शक्त आदि जरूरतमंद को सुबह-शाम भोजन की व्यवस्था के साथ यह सामुदायिक रसोई प्रारंभ की गई है।”

आज पहुंचे औचक निरीक्षण पर-

आज सुमित कुमार ने चकाई विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत सोनो प्रखंड के कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास, सोनो एवं चकाई प्रखंड के उच्च विद्यालय बामदह एवं पंचायत सरकार भवन, माधोपुर में चल रहे सामुदायिक रसोई का दौरा किया साथ ही भोजन की गुणवत्ता और अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उनके साथ काई प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी सुनील कुमार चांद जी, अंचलाधिकारी अजीत कुमार झा जी और सोनो प्रखंड के अंचलाधिकारी अनिल कुमार चौबे जी मौजूद थे।

अनूठी पहल पर क्या कहते हैं सुमित कुमार-

सुमित कुमार बिहार सरकार द्वारा संचालित इस अनूठी पहल के बारे में कहते हैं कि “माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी के निर्देशन में हमलोग यह सुनिश्चित करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं कि इस कोरोना काल में कोई भूखा न रहे। चकाई विधानसभा क्षेत्र में अभी चार सामुदायिक रसोई का संचालन हो रहा है, उपरोक्त तीनों जगह के अलावा चरकापत्थर में भी सामुदायिक रसोई चल रही है। जरूरत पड़ने पर इसकी संख्या बढ़ाई जाएगी। कोरोना की भीषण आपदा और लॉकडाउन से आजीविका पर संकट को देखते हुए पूरे बिहार में यह व्यवस्था की गई है। मैंने अपने चकाई विधानसभा क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में इसकी बेहतर व्यवस्था करने का निर्देश पदाधिकारियों को दिया था। महामारी और लॉकडाउन में बेकारी की वजह से हमारे क्षेत्र में कोई भूखा न रहे यह सुनिश्चित करने का दिशानिर्देश दिया है। मैं हमेशा अपने क्षेत्र के जनता जनार्दन के लिए चिंतन करता रहता हूं, कैसे उनके लिए और बेहतर कर सकूं! खाने की गुणवत्ता, स्वच्छता, शुद्धता पर मेरा विशेष ध्यान रहता है।”

चकाई में कोविड केयर सेंटर बनाने की कर चुके हैं पहल-

गौततलब है कि बीते दिनों सुमित कुमार सिंह चकाई में कोविड केयर सेंटर बनाने की पहल कर चुके हैं दरअसल कोरोना संक्रमित मरीजों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराने के लिए 60 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय जमुई जाना पड़ता था। इसके कारण लोगों को काफी असुविधा होती थी। लंबी दूरी तय करने के कारण कई बार तो मरीजों की मौत कोविड केयर सेंटर पहुंचने से पहले रास्ते मे हो गई। ऐसे में लोगों की असुविधाओं को देखते हुए मंत्री सिंह की पहल पर चकाई में ही कोविड केयर सेंटर खोलने का निर्णय लिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *