स्वास्थ्यकर्मियों के वेतन में 30 हजार रुपये मासिक की बढ़ोतरी

देश में कोरोना महामारी ने हाहाकार मचा रखा है इस बीच लोगों की सबसे ज्यादा अगर कोई देखभाल कर रहे हैं तो वह स्वास्थ्य कर्मी हैं इस कोरोना काल में स्वास्थ्य कर्मी यों के लिए एक अच्छी खबर बिहार से आ रही है दरअसल बिहार सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के अपने हजारों कर्मचारियों के वेतन में भारी बढ़ोतरी की है. ये सभी कर्मचारी संविदाकर्मी हैं और इनमें डॉक्टर से लेकर चपरासी तक शामिल हैं. राज्य सरकारी की ओर से जारी आदेश के मुताबिक डॉक्टरों के वेतन में 30 हजार रुपये मासिक तक की बढ़ोतरी की गई है आदेश के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग के 30 स्वीकृत पदों के कर्मियों का वेतन बढ़ाया गया है. इनके मानदेय का निर्धारण मूल वेतन, महंगाई भत्ता और अन्य भत्तों को जोड़कर किया गया है. इसके साथ ही मेडिकल कॉलेज में रेजिडेंट या ट्यूटर (टेनियोर पोस्ट) का मानदेय भी बढ़ाया गया है. इनका मानदेय प्रथम वर्ष के लिए 60 हजार से बढ़ाकर 25 हजार, दूसरे वर्ष के लिए 65 हजार से बढ़ाकर 90 हजार और तीसरे वर्ष के लिए 70 हजार से बढ़ाकर 95 हजार कर दिया गया है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव राम ईश्वर की ओर से जारी आदेश के अनुसार प्रयोगशाला प्रावैधिकी कर्मी और एक्सरे टेक्नीशियन का मानदेय 32 हजार से बढ़ाकार 37 हजार कर दिया गया है. ऑपरेशन थियेरट सहायक का वेतन 28 हजार से बढ़ाकर 32 हजार, बुनियादी स्वास्थ्यकर्मियों का वेतन 22 हजार से बढ़ाकर 25 हजार कर दिया गया है. इसी तरह परिधापक को अब 20 की जगह 25 हजार, एक्सरे टेक्नीशियन को 22 हजार की जगह 25 हजार, वरीय रेडियोग्राफर को 32 हजार की जगह 37 हजार, ईसीजी टेक्नीशियन, ईएमजी टेक्नीशियन, एनसीसी टेक्नीशियन, होल्टर टेक्नीशियन, रेडियोथेरेपी टेक्नीशियन का वेतन 32 हजार से बढ़ाकर 37 हजार मासिक कर दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *