महाराष्ट्र सरकार ने हस्तियों के ट्वीटस पर जाँच का दिया आदेश, तो भड़की सांसद नवनीत राणा…

किसान अंदोलन के सर्मथन में कई लोग खड़े हुए थे और इसको लेकर के लगातार राजनीति की जा रही है। लेकिन मामला तब और भी उग्र हो गया जब हॉलीवुड के कई हस्तियां भी किसान अंदोलन को लेकर ट्वीट करने लगे। आपको बता दें, पॉप गायिका रिहाना के एक ट्वीट से देश में सियासत तेज हो गई। जहाँ एक ओर कुछ लोगों ने ये कहा कि किसान अंदोलन हमारे देश का मामला है और इसमें किसी भी गैरमु्ल्किय लोगों को दखल नहीं देना चाहिए। वहीं, बॉलीवुड और क्रिकेट जगत के भी कई सितारे इसके पक्ष में नजर आए, जिसमें भारत रत्न से सम्मानित प्रसिद्ध गायिका लता मंगेश्कर और दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली भी शामिल हैं। दरअसल, महाराष्ट्र सरकार ने इन हस्तियों के ट्वीट्स पर जाँच करने का आदेश दिया है और अब महाराष्ट्र का खुफिया विभाग इन लोगों के ट्वीट्स की जांच करेगा।

बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र सरकार रिहाना के ट्वीट पर रिएक्शन में हुए ट्वीट्स की जांच करेगी। जांच में इस बात का पता लगाया जाएगा कि समाज की इन दिग्गज हस्तियों ने जो ट्वीट किए थे, वे कहीं मोदी सरकार के दबाव में तो नहीं किया गया है।

लता मंगेशकर ने रिहाना को जवाब देते हुए लिखा, ‘भारत महान देश है और हम सभी भारतीय इसे लेकर गौरवान्वित हैं. एक गौरवान्वित भारतीय के तौर पर मुझे पूरा भरोसा है कि कोई भी मुद्दा या समस्याएं, जिसका एक देश के तौर पर हम सामना कर रहे हैं, उसे अपने लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए हम सौहार्द्रपूर्वक सुलझाने में सक्षम हैं. जय हिंद.’

सचिन तेंदुलकर ने रिहाना के ट्वीट का जवाब देते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि “भारतीय संप्रभुता से किसी भी तरह का समझौता नहीं होगा और विदेशी ताकतें इससे दूर रहें. उन्होंने कहा कि भारत के आंतरिक मामलों में विदेशी ताकतों की भूमिका दर्शक तक ही सीमित है न कि हिस्सेदार की.”

दरअसल, महाराष्ट्र सरकार के आदेश के बाद से तमाम नेताओं के तरफ से प्रतिक्रिया सामने आ रही है। बता दें, महाराष्ट्र के अमरावती से सांसद नवनीत राणा ने कहा कि किसी को राष्ट्रीय नायकों को साबित करने की ज़रूरत नहीं है कि वे राष्ट्र के पक्ष में हैं या इसके खिलाफ। यह एक लोकतंत्र है, हम जब चाहें खुद को अभिव्यक्त कर सकते हैं। अगर कोई किसी ट्वीट के आधार पर इन सितारों को जज कर रहा है, तो वे भारत विरोधी हैं। दरअसल, महाराष्ट्र सरकार ने यह कार्रवाई कांग्रेस की शिकायत के बाद शुरू की है। बता दें, रिहाना और कई हस्तियों के ट्वीटस में कई कॉमन शब्द के प्रयोग किए गए थे, जिसके बाद से ये सवाल खड़े होने लगे कि क्या केंद्र सरकार के दबाव में सचिन तेंडुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली समेत बड़े सितारों ने ट्वीट तो नहीं किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *