रोहतास के कई घाटों से बालू की अवैध निकासी

बिहार में लॉकडाउन के बीच बालू का अवैध खनन जारी है बता दें कि कोरोना महामारी के प्रभाव को रोकने के लिए बिहार सरकार ने राज्य में 25 मई तक लॉकडाउन लगा दी है। राज्य का पूरा महकमा इस वैश्विक महामारी से मात देने में व्यस्त है। ताकि राज्य की जनता को इस भयानक कोरोना वायरस से बचाया जा सके। लेकिन, रोहतास जिले में बालू का अवैध कारोबार जमकर हो रहा है। जिले के डेहरी और बिक्रमगंज अनुमंडल क्षेत्र में पूरी रात पोकलेन मशीनों से बालू निकाला जा रहा है। सरकार ने 1 मई से ही बालू घाटों से खनन पर रोक लगा दिया था। इसके बावजूद बालू माफिया लगातार अवैध खनन कर रहे हैं।

कहां-कहां हो रहा है अवैध खनन-
डेहरी अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत तिलौथू, इंद्रपुरी, डालमियानगर, दरिहट थाना क्षेत्रों के अधीन आने वाले बंद पड़े लगभग सभी बालू घाटों से अवैध तरीके से बालू की निकासी धड़ल्ले से की जा रही है। खासकर इंद्रपुरी थाना अंतर्गत बडीहां, डालमियानगर थाना अंतर्गत मकराइन और सोन नद पर बने रेलवे पुल के नीचे से , दरिहट थाना अंतर्गत बेरकप, पडुहार और मंझियांव से रात भर ट्रक,हाईवा और ट्रैक्टरों से बालू की ढुलाई कर मोटी रकम कमाई जा रही है। इंद्रपुरी थाना अंतर्गत बड़ीहाँ घाट पर तो पूर्व में भी प्राथमिकी दर्ज कर जुर्माना भी लगाया जा चुका है। लेकिन इसके बावजूद भी बडीहां बालू घाट से रात भर बालू का खनन जारी है। वहीं सोन नद पर बने रेलवे पुल के नीचे से रात भर अवैध रूप से खनन कर ट्रैक्टरों से बालू की निकासी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *