किसानों के हिंसक प्रर्दशन पर दिलजीत दोसांझ सवालों के घेरे में…

गणतंत्र दिवस के दिन जिस तरह से राजधानी दिल्ली के लाल किले पर हिंसा की गई वह सभी के लिए काफी हैरान करने की बात थी। दरअसल, ट्रैक्टर रैली के दौरान किसानों का एक दल लाल किला में जा पहुँचा और सुरक्षा बलों के साथ उनकी झपड़ हो गई। यहां भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करते हुए कुछ अराजक तत्वों ने झंडे पर निशान साहिब लगाने की कोशिश की। इस पूरे घटनाक्रम के बाद किसानों के आंदोलन को बिलकुल एक नए चश्मे की तरह देखा जा रहा है और बीते दिन जिस तरह से किसान और पुलिसकर्मीयों के बीच हाथा पाई हुई वो बेहद निंदीय था।

आपको हम बता दें, लंबे समय से किसान अंदोलनरत हैं। 3 क्रषि कानूनों के विरोध में लगातार किसान प्रर्दशन कर रहे हैं लेकिन बीते दिन 26 जनवरी को जो लाल किला में घटना घटी वो बेहद शर्मशार करने वाली थी। बता दें, अक्सर केंद्र में जो भी घटना होती है उसको लेकर के बॉलीबुड के तरफ से भी टिप्पियां की जाती हैं। कई सिलेब्रिटी ऐसे थे जो किसान अंदोलन का लगातार सर्मथन कर रहे हैं, उनमें से ही एक हैं दिलजीत दोसांझ। लेकिन सिंकर दिलजीत सवालों के घेरा में फंसते नजर आ रहे हैं। क्योंकि बीते दिन जो कुछ भी देश की राजधानी दिल्ली में हुआ उस पर कई अभीनेता /अभीनेत्री कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। जिसको लेकर के दिलजीत दोसांझ अब जबाव मांगा जा रहा है। हालांकि लाल किले पर हुई इस शर्मशार कर देने वाली घटना के बाद से दिलजीत खामोश हैं और उनका इस बारे में एक भी ट्वीट नहीं आया है। एक यूजर ने दिलजीत के उस ट्वीट को रीट्वीट किया है जिसमें उन्होंने मासूम किसानों की तस्वीर शेयर करते हुए कहा था कि ये आपको टेररिस्ट लगते हैं।

यूजर ने उसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए गणतंत्र दिवस पर हंगामा करते हुए किसानों की तस्वीरें शेयर की हैं और लिखा- ये आपको किसान लगते हैं? इसी क्रम में एक.एक यूजर ने लिखा- बोलो दिलजीत ये आपको किसान लगते हैं? एक यूजर ने दिलजीत को टैग करते हुए लिखा, “सुना है दिल्ली में ट्रैक्टर लेकर घुसने वाले बाहर निकलने का रास्ता ढूंढ रहे हैं।

कंगना ने भी एक टीव्ट किया जिसमें उन्होंने एंटी सीएए विवाद की एक तस्वीर के साथ किसान आंदोलन विवाद की एक तस्वीर शेयर की जिसके कैप्शन में उन्होंने लिखा- संदेश स्पष्ट है, अब कोई रीफॉर्म अब कोई रीफॉर्म या जरूर बदलाव नहीं होंगे। आंतकवाद इस देश की दिशा तय करेगा, सरकार नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *