नीतिश को अपराधियों ने दिखाया ठेंगा, बैठक के तुरंत बाद 5 को ठोका

बिहार में लगातार क्राइम का ग्राफ बढ़ता जा रहा है….और बढ़ते अपराध चिंता का विषय बन चुके हैं….और इसपर लगाम कसने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हर मुमकिन कोशिश को आजमां रहे हैं…. बता दें लगातार सीेेएम की ओर समीक्षा बैठक की जा रही है….और बिहार में बढ़ते क्राइम को लेकर नीतीश कुमार काफी सतर्क हो चुके हैं और वो लगातार इसे कंट्रोल करने को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे हैं. बुधवार को सीएम नितीश कुमार ने 15 दिन के अंदर दूसरी बार सरदार पटेल भवन जाकर अधिकारियों के साथ बैठक की और बिहार में बढ़ते क्राइम को लेकर तमाम पुलिस अधिकारियों को चेतावनी भी दे दी. लेकिन एक तरफ जहाँ सीएम बार बार बिहार में क्राइम कंट्रोल होने का दावा कर रहे हैं वहीँ बिहार में बेख़ौफ़ अपराधियों ने आतंक मचाना शुरू कर दिया.

बुधवार को बेख़ौफ़ अपराधियों ने एक साथ कई घटनाओं को अंजाम दिया। पूर्णिया में डबल मर्डर की घटना समेत राज्य के 4 जिलों में अपराधियों ने ताबड़तोड़ 5 लोगों को गोली मार दी.
पहली घटना सासाराम की है, जहां काराकाट थाना इलाके के इटावा में अपराधियों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया. बिक्रमगंज से दुकान बंद कर गोरारी लौट रहे एक दुकानदार को अपराधियों ने गोली मार दी. जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया. घायल दुकानदार की पहचान निकेश सोनी के रूप में की गई है. उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है. उसे इलाज के लिए बिक्रमगंज के निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया है.

दूसरी घटना सहरसा जिले के बैजनाथपुर ओपी इलाके की है, जहां पेपर मिल परिसर में बदमाशों ने एक युवक को गोली मार दी, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया. घायल की पहचान रिशु साह के रूप में की गई है, जो सदर थाना इलाके में तिवारी टोला के वार्ड नम्बर 32 में रहने वाले प्रभु शरण साह का बेटा बताया जा रहा है. गंभीर हालत में रिशु साह को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

तीसरी घटना नालंदा जिले की है, जहां छविलापुर थाना इलाके में अपराधियों ने एक दुकानदार को गोली मार दी. गोली लगने के कारण दुकानदार बुरी तरह जख्मी हो गया है, जिसे इलाज के लिए स्थानीय पुलिस ने विम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया है. पुलिस इस घटना की छानबीन में जुटी हुई है.

चौथी घटना पूर्णिया जिले के बीकोठी थाना की है, जहां मौजमपट्टी ओपी क्षेत्र में बुधवार को एक बार फिर गोलियों की बौछार हुई. मधेपुरा के बिहारीगंज जा रहे मोजमपट्टी निवासी अरुण यादव (40) की राजघाट पश्चिम टोला के समीप बाइक सवार तीन बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी.

पांचवी घटना भी पूर्णिया जिले की ही है. पुलिस अभी राजघाट पश्चिम टोला वाले मामले की जांच ही कर रही थी कि दोपहर ढाई बजे मौजमपट्टी के ही सिसवा गांव के समीप बाइकसवार बदमाशों ने कुख्यात बदमाश बुच्चन यादव के भतीजा रूपेश यादव (32) की गोली मारकर हत्या कर दी. इस दौरान 10 से 15 राउंड फायरिंग भी की.

घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दो खोखा और एक कारतूस घटनास्थल से बरामद किया. एक के बाद एक दो हत्याओं से मौजमापट्टी के लोगों में दहशत है. छह थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाल रही है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बाद पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है.

हम आपको बता दें कि सरदार पटेल भवन में राज्य के सीनियर पुलिस अफसरों के साथ मीटिंग के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया कि जल्द ही अपराधियों पर नकेल कसा जायेगा. बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अधिकारियों से कह दिया कानून-व्यवस्था पर किसी तरीके का कोई समझौता नहीं होगा. अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जो भी घटनाएं हो रही हैं, उनकी वजह क्या है, उसके लिए कौन से लोग जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई हुई या नहीं, यह सुनिश्चित करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *