BJP सांसद रूडी ने पप्पू यादव के आरोपों का दिया जवाब

सारण में एंबुलेंस विवाद और पप्पू यादव के आरोपों को लेकर भाजपा प्रवक्ता और सांसद राजीव प्रताप रूडी ने आज प्रेस वार्ता की। अपनी प्रेस वार्ता में राजीव प्रताप रूडी ने पप्पू यादव द्वारा लगाए गए लगभग सभी आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि मैं बदनामी से नहीं डरता लेकिन कोई तथ्य के साथ कहें तभी ठीक है। मैं अब तक 4 बार लोकसभा सांसद व 2 बार राज्यसभा सांसद रह चुका हूं लेकिन कभी किसी आरोप में आज तक मेरा नाम नहीं आया है उन्होंने कहा कि अगर अपराधी किसी मंदिर में बैठ जाए तो वह संत नहीं हो जाता। हमारे एक मित्र पप्पू यादव का एक एफिडेविट था उसमें उन्होंने 32 आपराधिक मुकदमों को स्वयं स्वीकारा है जिसमें कोई धारा नहीं बची है।

ग़ौरतलब है कि छपरा से भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी ने एम्बुलेंस मामले में खुद पर लग रहे आरोपों पर पहली बार जवाब दिया उन्होंने अपनी बात को विस्तार देते हुए कहा कि कॉलेज के समय से मैं राजनीति में हूं और मेरे ऊपर अब तक कोई संगीन आरोप नहीं है बीजेपी सांसद ने एम्बुलेंस मामले का जिक्र करते हुए कहा कि मैं अपने ऊपर लग रहे आरोपों का जवाब देने के लिए 8 दिन का समय ले रहा हूं क्योंकि मैं तथ्यों के साथ अपनी बात रखना चाहता था.उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी का यह समय आपातकाल का समय है. ऐसे वक्त में हमें मिलकर इस महामारी से लड़ने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि मुझे समझ नहीं आता है कि ऐसे समय में बिहार सरकार ने किसी को इंस्पेक्टर बनने का परमिशन कैसे दे दी, जो अस्पताल के अंदर-अंदर जाकर समस्या निकाल रहा है.सांसद ने कहा कि आप चाहें तो मेरा नाम खंगाल के देख लीजिए किसी मामले में मेरा नाम नहीं मिलेगा.रूडी ने कहा कि अपराधी के खिलाफ कार्रवाई करना आसान होता है लेकिन राजनीतिक अपराधी के खिलाफ कार्रवाई करना आसान नहीं होता है. इनके पास संरक्षण होता है, ये बच जाते हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पप्पू यादव पर 70 धारा और 31 मामला कई गंभीर अपराधिक मामले यहां तक की डकैत, चोरी, अपहरण तक के दर्ज हैं. .

अपने बारे में दी सफाई –
अपने बारे में सफाई देते हुए रूडी बोले कि मैंने कोई गलती नहीं की है. उन्होंने दवा किया दावा किया है उनके संसदीय क्षेत्र में सबसे अच्छा एम्बुलेंस का नेटवर्क है.उन्होंने आरोपों पर कहा कि Ambulance में घर में नहीं है वो सामुदायिक केंद्र में था और कम्युनिटी सेंटर पर रखा गया है. जहां एम्बुलेंस रखा गया है उस जमीन की कागज दिखाते हुए रूडी बोले कि वह सरकारी जमीन है.सांसद ने कहा कि Ambulance का काम 10 साल से कर रहे हैं. इन एम्बुलेंस को मुखिया को दिया जाता है और पंचायत लेवल पर भी community बनता है. कम्यूनिटी ही एम्बुलेंस को लेकर फैसला लेता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *