राजद सुप्रीमो लालू यादव के बर्थडे के पहले जदयू का पलटवार, कहा-गरीबों की हड़पी जमीन वापस लौटा अच्छा संदेश दें

बिहार में लंबे समय से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव नाम के आसपास ही बिहार की राजनीति होती रही है। या यह भी कह सकते हैं कि बिहार की राजनीति के केंद्र बिंदु में लालू यादव नाम गूंजता रहता है। हाल ही में चारा घोटाले में जमानत पर जेल से बाहर आए लालू प्रसाद यादव एक बार फिर से राजनीति के केंद्र में शुमार हैं। 11 जून को उनका 74वां जन्मदिन है। उसके एक दिन पहले वे फिर से चर्चा में आ गए हैं। लालू प्रसाद यादव को लेकर जदयू फिर से हमलावर हो गया है। जदयू के नेता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने करारा प्रहार किया है। साथ ही लालू प्रसाद यादव को जन्मदिन के अवसर पर सलाह भी दे डाली है। कहा है कि वे दलित, अल्पसंख्यक और पिछड़ों की हड़पी हुई जमीन को वापस कर दें। इससे समाज में एक अच्छा संदेश जाएगा। उन्होंने कहा कि इसमें कई जमीन का तो अभी दाखिल-खारिज भी नहीं हुआ है। जमीन लौटाएं तब हम मानें कि वे सामाजिक न्याय वाले नेता हैं। सवाल पूछते हुए उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद के समर्थकों को बताना चाहिए कि लालू प्रसाद और उनके परिवार के लोगों का आर्थिक सूचकांक कैसे इतना बढ़ गया?

बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बर्थडे को लेकर भी ‘सामाजिक न्याय सद्भावना दिवस’ से जुड़ा पोस्टर लगाया गया है। राजद और जदयू के समर्थक अपने नेताओं के लिए अलग-अलग दावा कर रहे हैं। CM नीतीश कुमार के समर्थकों का कहना है कि नीतीश कुमार के राज में बिहार में काफी हुआ। उसकी तुलना में आज तक बिहार में किसी नेता ने उतना विकास नहीं किया है। गांव-गांव तक सड़कों का जाल बिछ गया है। छात्र-छात्राओं के बीच साइकिल और कपड़े बांटे गए। महिलाओं को नौकरियों में आरक्षण देकर मान-सम्मान दिया गया। शराबबंदी कर महिलाओं के जीवन में खुशियां भर दी गईं। इधर, राजद के प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने भी सरकार पर जमकर हमला बोला। कहा कि बिहार में विकास नहीं, उल्टे विनाश हो रहा है। शिक्षा और स्वास्थ्य की पोल खुली, जिससे पूरे देश में बिहार बदनाम हो गया। बालिका सुधार गृह में कितना कुकृत्य हुआ, यह सबकुछ पूरी दुनिया ने देखा है। कहा कि नीतीश कुमार के पेट में दांत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *