मधुबनी पहुंची ट्रेन में मिली लाश।

मधुबनी:चेन्नई से मधुबनी पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बुधवार को लाश मिलने से हड़कंप मच गया। उसकी पहचान झंझारपुर के नवानी गांव के सहदेव 53 वर्ष के रूप में की गई है। सहदेव के साथ बोगी में सफर कर रहे यात्रियों के अनुसार वह चेन्नई के एक इलेक्ट्रॉनिक दुकान में वर्षों से काम करता था। श्रमिक स्पेशल ट्रेन से घर आ रहा था। उड़ीसा के समीप 25 मई की शाम करीब चार बजे उसे अचानक कै व दस्त होने लगा। जिसके बाद तत्काल उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना मिलते ही उस बोगी के सभी यात्री भागकर दूसरे बोगी में चले गये। मधुबनी स्टेशन पर रात करीब 2.10 बजे ट्रेन रूकते ही रेल यात्री अपने-अपने प्रखंडों की ओर बस से रवाना हो गये। लाश उसी बोगी में सुबह करीब 10 बजे तक पड़ी थी। जीआरपी एवं आरपीएफ मेडिकल टीम आने का इंतजार कर रही थी। मेडिकल टीम सुबह में सेम्पल लिया। लेकिन लाश को कोई बाहर ले जाने वाला नहीं था। डर के कारण कोई रेल कर्मी व प्रशासन के कर्मी लाश के पास नहीं जाना चाह रहा था। जीआरपी के थानाध्यक्ष विनोद राम ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि बोगी से लाश ले जाने की प्रक्रिया चल रही है। सरकारी प्रक्रिया के बाद लाश परिजनों को सौपा जाएगा।
बता दें कि इससे पहले 15 मई को भी मुम्बई से मधुबनी पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन में अंधराठाढ़ी प्रखंड के राजारामपट्टी गांव निवासी मोती पंडित 78 वर्ष की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *