बिहार की महिलाएं हुनर सीख करा रही मशरूम की खेती।

शेखपुरा : सेंटर फॉर कैटलाइजिंग चेंज और राघव सेवा संस्थान के माध्यम से चल रहे चैंपियन परियोजना से ली है ट्रेनिंग।अरियरी प्रखंड अंतर्गत वरुणा के वार्ड संख्या 10 की निवासी अंशु देवी आज अपने समाज की अन्य महिलाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत्त बनी हुई है। कोरोना वायरस जैसे वैश्विक महामारी के इस संकट में अंशु देवी अपने घर में मशरूम का खेती कर रही हैं। इसके साथ-साथ क्षेत्र के महिलाओं को मशरूम खेती के बारे में जागरूक कर रही हैं। बड़े पैमाने पर महिलाएं मशरूम खेती का हुनर सीखकर खुद घरों में मशरूम का उत्पादन कर रही है। इस बाबत राघो सेवा संस्थान की संचालक निर्मला कुमारी ने बताया कि सेंटर फॉर कैटलाइजिंग चेंज और राघव सेवा संस्थान के माध्यम से चल रहे चैंपियन परियोजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त कर चुकी अंशु देवी ने सबसे पहले स्वास्थ्य और पोषण के मुद्दे पर काम किया है।

उन्होंने अपने स्वास्थ्य उपकेंद्र पर अन्टाइड फंड के माध्यम से जांच लिए बीपी मशीन, वजन मशीन, कुर्सी ,दरी इत्यादि सुविधाओं की उपलब्धता करवाई। इतना ही नहीं उन्होंने आंगनबाड़ी में भी सुविधाओं का लाभ दिलवाने में ग्रामीणों की मदद की है। इस गांव में पहले आंगनबाड़ी केंद्रों पर अन्नप्राशन, गोद-भराई जैसे कार्यक्रम नहीं होते थे, इनके कोशिशों के बाद होने लगा है। इनके पहल से गर्भवती महिलाओं का अब ग्रामीण स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस पर सभी तरह की जांच करा रही हैं और गर्भवती महिलाओं और बच्चों को मिलने वाले लाभ में सहयोग कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *