पटना के युवाओं की ताकत और बढ़ गई।

सुधीर गांधी/ पटना : जेल का फाटकटूटगयाजापकेक्रन्तिकारीसाथीछूटगये ।ये कोई नारा नही बल्कि हकीकत है और सच्ची कड़वी हकीक़त है कि युवाओं के आगे बीजेपी सरकार यानि कि नीतीश कुमार की सरकार को बिहार के युवाओं के सामने आख़िरकार झुकना ही पड़ा गया ।जन अधिकार छात्र परिषद के क्रांतिकारी विनय यादव,आदित्य मिश्रा, लवकुश यादव पटना के बेउर जेल से रिहा हो गए। बिहार से बाहर फंसे छात्र मजदूरो को वापस बुलाने की मांग को लेकर पटना यूनिवर्सिटी गेट पर लॉक डाउन में सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर आंदोलन कर रहे थे तब सरकार पर जब दबाव बढ़ने लगा तब नीतीश सरकार ने कार्यवाही करते हुए इन युवाओं को जेल भेज दिया था आज 37 दिन की कारावास काटने के बाद रिहा कर दिए गये सभी युवा । युवाओं में तेज औऱ जिद्द के साथ पप्पू यादव के नेतृत्व में बेहतर बिहार के लिए संघर्ष जारी रखने की बात कही ।अभी तक जन अधिकार छात्र परिषद के सदस्य पटना यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष मनीष यादव को जेल में ही रखा गया है,ये युवा बताते हैं कि आंदोलन की जीत हुई है साथ ही मनीष के रिहाई के लिए भी आंदोलन जारी रहेगा,सभी के अपार समर्थन के लिए ह्रदय से आभार। ऐसा लगा जब ये लोग जेल से बाहर निकले जैसे पूरा पटना के युवाओं का हुजूम इनके साथ हो ,फिलहाल युवाओं के इस प्रकरण से बिहार के विधानसभा चुनाव में काफी असर बीजेपी को झेलना पड़ सकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *