उत्तर प्रदेश में कोरोना से 17 की मौत।

लखनऊ :कोरोना वायरस के संबंध में अपर मुख्य सचिव, गृह एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने लोकभवन में की प्रेस कॉन्फ्रेंस।कोरोना वायरस के संबंध में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को संयुक्त रूप से यहां लोकभवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन के दूसरे चरण का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया है। साथ ही सीएम योगी ने गरीबों की चिंता करते हुए उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने की योजना को स्वीकृति दे दी है। इस योजना से 5 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। सीएम योगी ने 20 अप्रैल से लॉकडाउन में दी जाने वाली रियायत पर भी समीक्षा कर जरूरी निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही सीएम योगी ने लॉकडाउन का सख्ती व गंभीरता से पालन करने के लिए प्रदेशवासियों से अपील की है।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लॉकडाउन के दूसरे चरण की प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है। सीएम योगी ने रविवार को भी टीम 11 के सदस्यों के साथ बैठक कर कई निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि सीएम योगी ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश में पहुंचे प्रवासी श्रमिकों की चिंता करते हुए उन्हें लाभ पहुंचाने का निर्देश दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपनी कोर टीम के साथ बैठक में करीब पांच लाख प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने वाली योजना पर विचार विमर्श किया।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 45 दिन के लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों से प्रदेश लौटे पांच लाख से अधिक प्रवासी श्रमिकों को नौकरी और रोजगार मुहैया कराने की योजना को स्वीकृति दे दी है। सीएम योगी के निर्देश पर उच्च स्तरीय कमेटी गठित की गई है। यह समिति इन श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि स्थानीय स्तर पर रोजगार सृजन से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी। कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में गठित इस समिति में प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास, प्रमुख सचिव पंचायती राज, प्रमुख सचिव एमएसएमई तथा प्रमुख सचिव कौशल विकास को शामिल किया गया है।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि यह समिति ओडीओपी के तहत रोजगार सृजन के साथ-साथ बैंक के माध्यम से भी लोन मेला के आयोजन को सुनिश्चित करेगी। इसके अलावा रोजगार मेला का भी आयोजन इस समिति द्वारा स्थानीय स्तर पर किया जाएगा। जिससे लोगों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। यह समिति रोजगार के ज्यादा अवसर कैसे सृजित किए जाएं? इस पर भी सरकार को अपने सुझाव देगी। समिति एमएसएमई के तहत विभिन्न उद्योगों में रोजगार के अवसर सृजित करने की सम्भावनाओं को भी तलाशेगी।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री येागी आदित्यनाथ ने कहा है कि रोजगार के अधिक से अधिक अवसर सृजित करने के उद्देश्य से केंद्र की मोदी सरकार ने रिवॉल्विंग फण्ड में जो बढ़ोतरी की है, उससे महिला स्वयंसेवी समूहों की विभिन्न गतिविधियों जैसे सिलाई, अचार, मसाला आदि के कामों को बढ़ावा देते हुए रोजगार सृजित किया जाए। उससे महिला स्वयंसेवी समूहों को विभिन्न गतिविधियों में अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध होगा।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि सीमए योगी ने निर्देश दिए हैं कि महिलाएं जिन सामग्रियों का उत्पादन करेंगी उसकी मार्केटिंग ओडीओपी के माध्यम से सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने बताया कि सीएम योगी के आदेश पर प्रदेश के हर जिले में पुष्टाहार पहुंच रहा है। सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि बच्चों, किशोरियों, कन्याओं के साथ गर्भवती माताओं के लिए पुष्टाहार की डोर स्टेप डिलीवरी सुनिश्चित की जाए।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को निर्देश दिया है कि जिन जिलों में कोरोना पॉजिटीव के 10 से अधिक केस हैं। उन जिलों को 20 अप्रैल से मिलने वाली रियायत में शामिल ना किया जाए। इसके अलावा किस उद्योग को चलाना है? हॉटस्पॉट का कैसे परिक्षण होगा? हॉटस्पॉट के बफर जोन को कैसे चिन्हित किया जाएगा? इसकी ठोस कार्ययोजना बनाने का निर्देश सीएम योगी ने सभी जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों को दिया है।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि सीएम योगी उत्तर प्रदेश कोरोना कोविड फंड में आर्थिक सहायता देने वालों को बधाई दी है, साथ ही कोविड केयर फंड में सहयोग करने की अपील भी की है। उन्होंने बताया कि इस फंड में अब तक 204 करोड़ से अधिक की धनराशि एकत्र हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *